एक दिन में घर से निकली दो अर्थियां

Badaun Updated Mon, 27 Aug 2012 12:00 PM IST
सास के गम में विवाहिता की भी जान गई
कादरचौक। एक विवाहिता को उसकी वयोवृद्ध सास की मौत का गम इस कदर सताया कि कुछ घंटों बाद उसकी भी सांस थम गईं। परिवार के लोग वृद्धा की अंत्येष्टि करके लौटे तो विवाहिता का शव घर में मिला। शाम को परिवार के लोगों ने विवाहिता की भी अंत्येष्टि कर दी।
इलाके के गांव चौड़ेला निवासी नरोत्तम की 110 वर्षीय पत्नी हरदेवी कुछ दिनों से बीमार चल रही थीं। रविवार की सुबह उनकी मौत हो गई। परिवार के लोगों ने उनकी विमानयात्रा निकाली। हालांकि परिवार की महिलाएं गमजदा थीं। उनके नाती नंदकिशोर की शादी चार महीना पहले थाना उसहैत क्षेत्र के गांव नाजिमनगला निवासी मिथलेश से हुई थी। सास की मौत की खबर सुनकर मिथलेश रविवार की दोपहर यहां पहुंची थी। परिवार के लोगों ने बताया कि मिथलेश और हरदेवी के बीच काफी लगाव था। उनकी मौत का दम मिथलेश बर्दाश्त नहीं कर सकी। सदमे के चलते उसकी मौत हो गई। शाम को परिवार केलोगों ने शव की अंत्येष्टि कर दी।

Recommended

Spotlight

Related Videos

अटल बिहारी वाजपेयी को लेकर नेहरू ने पहले ही कर दी थी भविष्यवाणी

अटल बिहारी वाजपेयी भारतीय राजनीति का वो चेहरा हैं जिसे हर कोई चाहता है। परिवार, मित्र और अपनी पार्टी के नेता तो छोड़िए विपक्ष के नेताओं के साथ भी अटल जी का कभी कोई मतभेद नहीं रहा। सबके चहेते अटल जी की जिंदगी के कुछ अनछुए पहलू देखिए इस रपोर्ट में।

16 अगस्त 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree