एक दिन में घर से निकली दो अर्थियां

Badaun Updated Mon, 27 Aug 2012 12:00 PM IST
सास के गम में विवाहिता की भी जान गई
कादरचौक। एक विवाहिता को उसकी वयोवृद्ध सास की मौत का गम इस कदर सताया कि कुछ घंटों बाद उसकी भी सांस थम गईं। परिवार के लोग वृद्धा की अंत्येष्टि करके लौटे तो विवाहिता का शव घर में मिला। शाम को परिवार के लोगों ने विवाहिता की भी अंत्येष्टि कर दी।
इलाके के गांव चौड़ेला निवासी नरोत्तम की 110 वर्षीय पत्नी हरदेवी कुछ दिनों से बीमार चल रही थीं। रविवार की सुबह उनकी मौत हो गई। परिवार के लोगों ने उनकी विमानयात्रा निकाली। हालांकि परिवार की महिलाएं गमजदा थीं। उनके नाती नंदकिशोर की शादी चार महीना पहले थाना उसहैत क्षेत्र के गांव नाजिमनगला निवासी मिथलेश से हुई थी। सास की मौत की खबर सुनकर मिथलेश रविवार की दोपहर यहां पहुंची थी। परिवार के लोगों ने बताया कि मिथलेश और हरदेवी के बीच काफी लगाव था। उनकी मौत का दम मिथलेश बर्दाश्त नहीं कर सकी। सदमे के चलते उसकी मौत हो गई। शाम को परिवार केलोगों ने शव की अंत्येष्टि कर दी।

Spotlight

Related Videos

राम मंदिर मुद्दे पर ये बोले राज्यापाल राम नाईक

यूपी के पीलीभीत में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे सूबे के राज्यपाल राम नाईक मीडिया से रूबरू हुए। यहां राम नाइक इन्वेस्टर्स समिट, प्रदेश के लॉ एंड आर्डर, राम मंदिर मुद्दे पर बातचीत की। खुद सुनिए क्या बोले राज्यपाल राम नाईक।

23 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen