ये जुगाड़ जानलेवा, कोई क्या कर लेगा

Badaun Updated Mon, 27 Aug 2012 12:00 PM IST
जिले में 12 सौ जुगाड़ वाहनों से हो रही डग्गामारी, बेपरवाह बनी पुलिस
जिला मुख्यालय से पूरे दिन डग्गामारी करते हैं ये वाहन
बदायूं। कहने को बदायूं जिला मुख्यालय है। यहां रोडवेज और प्राइवेट बस स्टैंड के अलावा रेलवे स्टेशन भी है। बावजूद इसके यहां का यातायात जुगाड़ के सहारे चलता है। कई इलाकों में बस की सुविधा न होने के कारण लोगों को उनकी मंजिल तक पहुंचाने के लिए जुगाड़ वाहन ही काम आते हैं। जिले में मौत की सवारी बनकर दौड़ रहे इन वाहनों पर न तो पुलिस अंकुश लगाती है और न ही संभागीय प्रवर्तन विभाग का पहरा है।
जिले में लगभग 12 सौ जुगाड़ वाहन हैं। मूलत: कृषि कार्य के लिए बनाए गए ये वाहन डग्गामारी को अंजाम दे रहे हैं। मुख्यालय के अलावा देहात इलाकों में चल रहे ये वाहन उस क्षेत्र में डग्गामारी करते हैं, जहां बस सुविधा नहीं है। इस साल में अभी तक इन वाहनों से विभिन्न थाना क्षेत्रों में हुए हादसों में छह लोग काल का ग्रास बन चुके हैं। इनमें एक दुर्घटना कोतवाली सहसवान क्षेत्र में हुई, जबकि दो लोगों की जान जरीफनगर थाना क्षेत्र में जा चुकी है। इसके अलावा बिल्सी क्षेत्र के गांव शहजादनगर के पास भी मई में एक जुगाड़ वाहन खड्डे में उतरा और एक व्यक्ति की मौत हो गई थी। वहीं अन्य हादसों में भी दो परिवार उजड़ने का सबब यह वाहन बने हैं।

इन मार्गों पर होता है संचालन
जुगाड़ वाहनों का संचालन जिला मुख्यालय से दातागंज, गुलड़िया, नई सड़क, कादरचौक से उसहैत, कुंवरमझासा मार्गों पर चलते हैं। इसके अलावा उझानी से बिल्सी और कछला मार्ग पर भी इन्हीं वाहनों का बोलबाला रहता है। सहसवान से बिसौली, मुजरिया, बितरोई और जरीफनगर रोड पर भी इन वाहनों का संचालन हो रहा है। इसके अलावा लिंकरोडों पर डग्गामारी करना इनकी कमाई का जरिया है।

जहां-तहां बने हैं पार्किंग स्टैंड
ऐसा नहीं कि ये वाहन चोरी-छिपे डग्गामारी कर रहे हों क्योंकि पुलिस महकमे को इसकी पूरी जानकारी है। इसका सुबूत शहर में जहां-तहां बने जुगाड़ वाहनों के अवैध पार्किंग स्टैंड हैं। गांधीपार्क से लावेला चौक वाली सड़क पर पूरे दिन इन वाहनों का जमावड़ा लगा रहता है। इसके अलावा बदायूं क्लब के इर्द-गिर्द भी ये खड़े रहते हैं। गोपी चौक, मथुरिया चौराहा और गोपाल टाकीज के पास जुगाड़ वाहन का अवैध स्टैंड है।

वर्जन-----------
सिटी मजिस्ट्रेट से इस संबंध में बात हुई है। नगर पालिका वाहनों से वसूली करती है। इसलिए उनका स्टैंड बनाने की जिम्मेदारी भी पालिका की है। ट्रैफिक जाम की स्थिति से बचाने के लिए एक-दो दिन में चेयरमैन के अलावा प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक की जाएगी और इस समस्या से छुटकारा दिलाएंगे। जुगाड़ वाहनों से डग्गामारी बंद कराने की रूपरेखा भी तैयार कर रहे हैं। -सत्यसेन यादव, सीओ सिटी।

वर्जन-----------
प्राइवेट बस स्टैंड के पीछे पालिका की काफी जमीन खाली पड़ी है। इस जमीन पर जुगाड़ एवं अन्य वाहनों का स्टैंड बनाने का प्रस्ताव प्रशासन के सामने रखा है। प्रशासन से अनुमति मिलते ही यह व्यवस्था लागू कर दी जाएगी। -ओमप्रकाश मथुरिया, चेयरमैन

Spotlight

Related Videos

VIDEO: श्रीलंका का ये सांस्कृतिक नृत्य देख कर झूम उठेंगे आप

बीएचयू के संगीत एवं मंच कला संकाय के पंडित ओंकार नाथ ठाकुर सभागार में गुरुवार की शाम श्रीलंकाई कलाकारों के नाम रही। यहां श्रीलंका से आए 10 कलाकारों के ‘ठुरैया ग्रुप’ ने पारंपरिक नृत्य से समां बांध दिया।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper