कोर्ट में सुनैन बोली: जाऊंगी ममा के साथ

Badaun Updated Sat, 25 Aug 2012 12:00 PM IST
दिल्ली पुलिस द्वारा डॉक्टर की बेटी को ले जाने का मामला
कोर्ट ने बच्ची को किया स्वतंत्र, कहीं भी रह सकती है
बदायूं। डॉक्टर दंपति के विवाद में दिल्ली पुलिस द्वारा बृहस्पतिवार को उनकी बच्ची ले जाने के मामले का दूसरे दिन पटाक्षेप हो गया। दिल्ली कोर्ट में बच्ची ने मजिस्ट्रेट के सामने कहा कि फिलहाल वह अपनी मम्मी के साथ जाना चाहती है। कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने बच्ची को उसकी मां डा. वुशा को सौंप दिया है।
जिक्र कर दें कि शहर के लावेला चौक निवासी दांतों के डॉक्टर वैभव गुप्ता एक सप्ताह पहले अपनी पत्नी डॉ. बुशा के पास से अपनी 10 साल की बेटी सुनैन को ले आए थे। दंपति के बीच आपसी रार के चलते बच्ची की मां ने दिल्ली के द्वारिकापुरी थाने में सोमवार को डॉ. वैभव के खिलाफ बच्ची को बहला-फुसलाकर ले जाने के आरोप में मुकदमा दर्ज कराया था।
बृहस्पतिवार को दिल्ली पुलिस यहां पहुंची और बच्ची को अपने साथ ले जाने लगी। डॉ. वैभव भी बच्ची के साथ दिल्ली गए। शुक्रवार को पुलिस ने सुनैन को कोर्ट में पेश किया। यहां सुनैन ने अपनी मां के साथ रहने की इच्छा जाहिर की।
कोर्ट ने इस हिदायत के साथ डॉ. बुशा को बच्ची सौंपी है कि हर हफ्ते वह अपने पिता से मिल सकेगी। साथ ही डॉ. बुशा कोर्ट की इजाजत के बगैर उसे विदेश नहीं ले जा सकेंगी। इसके अलावा कोर्ट ने यह भी आदेश दिया है कि बच्ची अपनी मर्जी के मुताबिक मां या पिता के पास कभी भी रह सकती है।

Spotlight

Related Videos

VIDEO: गेंदबाज ने अपने सिर से मारा छक्का

आपने अकसर ये सुना होगा कि क्रिकेट के मैदान पर बल्लेबाज से सिर पर गेंद लगी। कई बार चोट जानलेवा भी हो गई लेकिन इस बार गेंद बल्लेबाज के सिर पर नहीं बल्कि गेंदबाद के सिर पर लगी।

23 फरवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen