विज्ञापन

पब्लिक को फांसा, एसओ को बचाया

Badaun Updated Tue, 21 Aug 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
वजीरगंज (बदायूं)। अपने हक को लड़ने का अधिकार देश के हर नागरिक को है। लेकिन वजीरगंज में सार्वजनिक हित को प्रदर्शन कर रहे लोगों पर लाठी भांजने वाले एसओ अमर सिंह कार्रवाई से बचे हैं और कई निर्दोष लोगों पर मुकदमा दर्ज कर दिया गया।
विज्ञापन
यहां बता दें कि कस्बे में हो रही अंधाधुंध बिजली कटौती के विरोध में बीती 18 अगस्त को लोगों ने मुरादाबाद-फर्रुखाबाद हाइवे पर जाम लगाकर प्रदर्शन किया था। शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे नागरिकों को इसका तनिक भी आभास नहीं था कि पुलिस बिना किसी चेतावनी के महिलाओं से अभद्रता करेगी। विरोध करने पर एसओ और पीएसी लाठियां भांजेगी। एसओ की इस उलटी कार्रवाई का फायदा उन शरारती तत्वों ने उठाया जो लंबे अरसे से इलाके की फिजा बिगाड़ने के लिए प्रयासरत हैं। इन लोगों ने वाहनों पर तोड़फोड़ शुरू कर दी। इसका ठीकरा आम जनता के सिर फोड़ दिया गया। नतीजतन रविवार की रात ढाई सौ अज्ञात लोगों के खिलाफ जाम लगाना, तोड़फोड़ करना और एकजुट होकर शांति व्यवस्था बिगड़ने समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज कर दिया गया। खास बात यह है कि इस मुकदमे में थानेदार अमर सिंह ही वादी बने हैं। हालांकि एसपी मंजिल सैनी ने बताया कि ईद के पर्व की वजह से एसओ के खिलाफ कार्रवाई नहीं हो सकी है। एक-दो दिन में उन्हें भीड़ से अभद्रता करने की सजा दी जाएगी।

अब तो जुल्म की इंतहा हो गई: अमरीश
व्यापार मंडल के अध्यक्ष अमरीश वार्ष्णेय ने बताया कि इलाके में व्यापारियों के साथ लूटपाट जैसी घटनाएं हो रही हैं। व्यापारी खुद को सुरक्षित महसूस कर रहे हैं। कहा कि वाहनों में तोड़फोड़ शरारती तत्वों ने की और मुकदमा आम आदमी पर दर्ज हुआ। यह जुल्म की इंतहा है। पुलिस को चाहिए कि इन शरारती तत्वों को चिह्नित करके कार्रवाई करे।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

सबरीमाला विवाद: केरल बंद पर पसरा सन्नाटा

केरल के सबरीमाला मंदिर को जहां एक तरफ सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सभी उम्र की महिलाओं के लिए खोल दिया गया वहीं बुधवार को हुए हंगामे ने आज 12 घंटे की बंदी का आगाज़ किया है।

18 अक्टूबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree