विज्ञापन

कार-बाइक भिड़ंत में युवक की मौत, साथी घायल

Badaun Updated Tue, 21 Aug 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
उझानी (बदायूं)। बरेली-आगरा हाइवे पर सोमवार की सुबह कार-बाइक की आमने-सामने की भिड़ंत में एक युवक की मौत हो गई। जबकि उसका साथी गंभीर रूप से घायल हो गया। पुलिस दोनों को जिला अस्पताल लेकर पहुंची, यहां व्याप्त अव्यवस्थाओं को देख परिवार के लोग आक्रोशित हो गए। इससे वहां बड़ा बवाल होने से टल गया।
विज्ञापन
थाना सिविल लाइंस क्षेत्र के गांव शेखूपुर निवासी बातूनशाह का 24 वर्षीय बेटा सलमान दिल्ली में रहकर पर्स बनाने का काम करता था। दो दिन पूर्व सलमान यहां ईद मनाने लौटा था। सोमवार की सुबह वह गांव के ही अपने दोस्त बबलू के साथ बाइक से उझानी गया था। यहां से लगभग 10:30 बजे दोनों वापस लौट रहे थे। उझानी से निकलते ही पेट्रोल पंप के पास बदायूं की ओर से आ रही कार से बाइक की भिड़ंत हो गई।
दुर्घटना में सलमान ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। जबकि बबलू घायल हो गया। वहीं कार में बैठे शहर के मोहल्ला सैय्यदबाड़ा निवासी संजय कौशल, उनकी पत्नी संगीता कौशल, 11 वर्षीय बेटा उदित, नौ वर्षीय बेटी तिथि और पांच साल की मानवी घायल हो गए। पुलिस सभी को जिला अस्पताल लेकर पहुंची और शव को अस्पताल की मोरचरी में रखवा दिया गया।
घटना की सूचना मिलने पर पहुंचे परिवार के लोगों ने बबलू को हायर सेंटर बरेली ले जाने के लिए एंबुलेंस की मांग की लेकिन अस्पताल से एंबुलेंस नदारद थी। वहीं मोरचरी में सलमान का शव जमीन पर पड़ा देख परिवार के लोग बौखला गए। मामला बिगड़ता देख इमरजेंसी में तैनात डॉक्टर और अन्य स्टाफ वहां से खिसक गए। स्थिति और न बिगड़े इसलिए ऐहतियात के तौर पर सीओ उझानी एमएस राणा कोतवाली और सिविल लाइंस थाने की पुलिस लेकर पहुंच गए। परिवार के लोगों के तेवर देखते हुए वहां पीएसी भी बुला ली गई। निजी एंबुलेंस से घायल को बरेली ले जाया गया। परिवार के लोग सीएमएस के घर का घेराव करने भी पहुंचे लेकिन पुलिस ने उन्हें समझाकर मामला शांत करवा दिया।
... तो बेकाबू हो जाते हालात
जिस समय परिवार केलोग सीएमएस डॉ. नरेंद्र कुमार के आवास पर पहुंचे, उस वक्त सीएमएस घर में मौजूद नहीं थे। कुछ लोगों ने उन्हें आवाज देकर बाहर भी बुलाया। ऐसे में यदि सीएमएस बाहर आ जाते तो हालात बेकाबू होते देर न लगती। हालांकि आक्रोशित लोगों ने सीएमएस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

आंदोलन के अलावा विकल्प नहीं
घटनाक्रम के दौरान जिला कांग्रेस कमेटी केअध्यक्ष ओमकार सिंह के साथ कांग्रेसी पूर्व प्रधानमंत्री राजीव के जन्मदिन पर अस्पताल में मरीजों को फल वितरित करने आए थे। परिवार के लोगों ने कांग्रेसियों से पूरे मामले की शिकायत की। जिलाध्यक्ष ने कहा कि अस्पताल में भ्रष्टाचार और अव्यवस्थाओं के अलावा कुछ नहीं होता। गरीब मरीजों को यहां तैनात वार्ड ब्वाय दलालों से मिलकर ठगी करते हैं। अधिकारियों का भी इन्हें संरक्षण प्राप्त है। अस्पताल प्रशासन के खिलाफ आंदोलन के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है। जल्द ही आंदोलन शुरू किया जाएगा।
तीन साल पहले हुई थी भाई की मौत
शेखूपुर। सलमान अपने चार भाइयों में सबसे छोटा था। तीन साल पहले बड़े भाई दिलशाद की शादी हुई थी। शादी वाले दिन ही उसकी करंट की चपेट में आकर मौत हो गई थी। उस समय परिवार की शादी की खुशियां काफूर हुई थीं। जबकि सोमवार को ईद के दिन सलमान की मौत के साथ ईद की खुशियां गम में बदल गईं।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

VIDEO: पति के रोमांस के तरीके से खुश नहीं थी पत्नी, किस करते हुए दी ये बड़ी सजी

दिल्ली में पति के रोमांस के तरीके से नाखुश पत्नी ने भयानक वारदात को अंजाम दे डाला। रात को कमरे से पति की चीख निकली और परिजनों ने जब अंदर जाकर देखा तो वो भी सन्न रह गए।

24 सितंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree