हड़ताल के लिए बैंक यूनियन ने बनाई रणनीति

Badaun Updated Tue, 21 Aug 2012 12:00 PM IST
बदायूं। लंबित मांगों को लेकर 22-23 अगस्त को होने वाले हड़ताल की सफलता को लेकर यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन्स ने बैठक की। इसमें रणनीति बनाई गई।
जिलाध्यक्ष राजेश वर्मा ने कहा कि सरकार बैंकिंग सुधार के नाम पर कानूनों में परिवर्तन करके कारपोरेट्स एवं निजी औद्योगिक घरानों को बैंक खोलने के लाइसेंस जारी करके एवं ग्रामीण शाखाओं को बंद करके निजीकरण को बढ़ावा देना चाह रही है, जिसे स्वीकार नहीं किया जाएगा। उन्होंने बताया कि 21 अगस्त को एसबीआई की मुख्य शाखा पर भोजनावकाश में प्रदर्शन एवं 22 और 23 को सभी कर्मचारी सुबह दस बजे से उसी स्थल पर एकत्रित होंगे और धरना-प्रदर्शन करेंगे। जिला मंत्री घनश्याम शर्मा ने कहा कि सरकार हमारी लंबित मांगों पर कोई विचार नहीं कर रही है। जिसमें अनुकंपा आधार भर्ती, स्टाफ गृह ऋण के लिए समान दिशा-निर्देश, पेंशन योजना में सुधार आदि शामिल हैं। हिमांशु विश्वकर्मा ने कहा कि सरकार को बैंकों में आउटसोर्सिंग तुरंत बंद करनी चाहिए।
उदित वार्ष्णेय ने कहा कि खंडेलवाल समिति की संस्तुतियों को लागू न किया जाए। इस मौके पर संजीव शर्मा, शकील अहमद, राहुल, रामनाथ, संजय मलिक, सुरेश अरोरा, अशोक बाबू गुप्ता, सुनील बाबू रस्तोगी, ऋषिराम गुप्ता आदि रहे। अध्यक्षता राजेश वर्मा ने और संचालन घनश्याम शर्मा ने किया।

Spotlight

Related Videos

बिहार पुलिस में निकलीं 1669 पदों पर भर्ती, ऐसे करें अप्लाई

करियर प्लस के इस बुलेटिन में हम आपको देंगे जानकारी लेटेस्ट सरकारी नौकरियों की, करेंट अफेयर्स के बारे में जिनके बारे में आपसे सरकारी नौकरियों की परीक्षाओं या इंटरव्यू में सवाल पूछे जा सकते हैं और साथ ही आपको जानकारी देंगे एक खास शख्सियत के बारे में।

23 फरवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen