गले मिलकर कहा, ईद मुबारक

Badaun Updated Tue, 21 Aug 2012 12:00 PM IST
बदायूं। जिले भर में सोमवार को ईद उल फितर का त्योहार प्रेम व सौहार्द के साथ मनाया गया। ईदगाह शम्सी में काजी-ए-जिला हजरत सालिम मियां साहब के बेटे मौलाना उसैद-उल-हक ने विशेष नमाज के बाद परवरदिगार से कौम और मुल्क की तरक्की की दुआ की। उन्होंने फरमाया, सच्चा मुसलमान वही है जो रमजान के मुबारक महीने में रोजा रखकर अल्लाह की इबादत करे। रोजा रखने वालों पर अल्लाह की रहमत बरसती है।
कहा कि मुल्क की तरक्की होने से कौम की भी तरक्की होगी। इसलिए मुसलमानों को चाहिए कि कौम की हिफाजत करने के साथ देश सेवा करें। बाद में उन्होंने लोगों से अमन और सौहार्द के माहौल में ईद मनाने को कहा और ईद की मुबारकबाद दी। इस दौरान वरिष्ठ कांग्रेस नेता फखरे अहमद शोबी, चेयरमैन ओमप्रकाश मथुरिया समेत तमाम गणमान्य नागरिक मौजूद रहे। एडीएम प्रशासन संजय कुमार सिंह, एएसपी सिटी पियूष श्रीवास्तव भी ईदगाह पहुंचे और लोगों से गले मिलकर ईद की दिली मुबारकबाद दी।

मेले में बच्चों ने की झूलों की सैर
ईदगाह पर लगे मेले में बच्चों ने झूलों की जमकर सैर की। वहीं गुब्बारे और खिलौने भी खरीदे। बच्चों ने भी एक-दूसरे से गले मिलकर ईद की बधाई दी।

चप्पे-चप्पे पर रही मुस्तैदी
ईदगाह के आसपास सुरक्षा केपुख्ता इंतजाम किए गए। वहां दो प्लाटून पीएसी के अलावा कोतवाली और सिविल लाइंस थाने की पुलिस लगाई गई। इसके अलावा रिजर्व पुलिस लाइन से भारी मात्रा में पुलिस बल भेजा गया। वहीं अग्निशमन विभाग की गाड़ी भी मौजूद रही।

Spotlight

Related Videos

मालदीव संकट की ये है असली वजह

मालदीव के हालात सुधरते नजर नहीं आ रहे हैं। मलादीव इस वक्त सियासी संकट से जूझ रहा है। राष्ट्रपति अब्दुल्ला यमीन अब्दुल गयूम ने 15 दिनों के आपातकाल की घोषणा की है।

25 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen