जिलेभर में बिजली कटौती को लेकर हाहाकार

Badaun Updated Sun, 19 Aug 2012 12:00 PM IST
बदायूं। अघोषित बिजली कटौती को लेकर जिले भर में हाहाकार मचा है। शहर में 13 तो देहात में तीन से चार घंटे ही आपूर्ति की जा रही है। गर्मी से लोगों का बुरा हाल है। कारोबार प्रभावित हो रहा है। उद्योग धंधे भी बंदी के कगार पर पहुंच गए हैं। उपभोक्ताओं का गुस्सा आए दिन फूट रहा है। पहले उझानी में तो अब वजीरगंज में बवाल किया गया। इसके बावजूद महकमे के अफसर नहीं चेत रहे। उनका तर्क है कि जो आपूर्ति मुख्यालय से की जा रही है उसमें कटौती नहीं हो रही है।
शहर में शुक्रवार से बिजली कटौती बढ़ गई। इस दिन खंड-खंड में साढ़े 13 घंटे आपूर्ति की गई। शनिवार को भी यही हाल रहा। सुबह ही छह बजे बिजली गुल हो गई जो नौ बजे आई। उसके बाद दोपहर एक बजे दर्जनभर से अधिक मोहल्ले कटरा ब्राह्मपुर, शहवाजपुर, टिकटगंज, पटियाली सराय, कूंचापांडा, चौबे आदि में गई बत्ती शाम छह बजे मिली। दिन में भी कई मोहल्लों में लो वोल्टेज और ट्रिपिंग की समस्या से लोग परेशान रहे। गर्मी में दिनभर लोग पसीने बहाते रहे। हालांकि शाम को हुई बरसात से कुछ राहत उपभोक्ताओं को तो पूरी राहत महकमे के अफसरों को मिली। उनके फोन घनघनाना बंद हो गए।
ग्रामीण इलाकों में ककराला, उसावां, वजीरगंज, बिसौली, सहसवान, अलापुर, आसफपुर, कुंवरगांव, म्याऊ आदि में बिजली आपूर्ति शेड्यूल के मुताबिक नहीं की जा रही है। यहां 16 घंटे सप्लाई निर्धारित है। किसान खरीफ फसलों की सिंचाई नहीं कर पा रहे हैं। आटा चक्की, सेलर, छोटे राइस मिल, मसाले पीसने के धंधे चौपट हो गए हैं। मोबाइल तक चार्ज नहीं हो पा रहे हैं। महकमे के अधिकारियों का तर्क है कि स्थानीय स्तर से कोई कटौती नहीं की जा रही है।
-अफसर मस्त, उपभोक्ता पस्त-
चार्ज नहीं हो रहा इनवर्टर

नेकपुर निवासी बबलू का कहना है कि न तो इनवर्टर चार्ज हो रहा और न ही फ्रिज का पानी ठंडा हो पा रहा है। अधिकारियों को फोन लगाएं तो उठाते नहीं। इससे उपभोक्ता ठगे जा रहे हैं।

कारोबार हो रहा प्रभावित

प्रेमनगर निवासी अरविंद की मोबाइल की दुकान है। कहते हैं रिचार्ज करने वाले मोबाइल चार्ज नहीं हो रहे हैं। कारोबार प्रभावित हो रहा है। गर्मी से अलग बुरा हाल है।

जनप्रतिनिधि नहीं उठा रहे कदम

जोगीपुरा निवासी जयेंद्र का कहना है कि बिजली शेड्यूल मायने नहीं रखता। मनमाने तरीके से कटौती हो रही है। जिले के नेता भी इस ओर कोई कदम नहीं उठा रहे हैं। उपभोक्ता पस्त हो गए हैं।

ककराला। नगर में जुमा अलविदा के अवसर पर भी बिजली कटौती की गई। इस पर लोगों में आक्रोश है। नगर के मुहम्मद अनीस, राष्ट्रवादी कांग्रेस के मंडल अध्यक्ष इस्हाक खान, अशरफ गुलशन आदि का कहना है कि अधिकारी कटौती कर रहे हैं। जनता को अपने अधिकारों के लिए आगे आना होगा। कहा कि कटौती के कारण पेयजलापूर्ति भी नहीं हो सकी। कहा कि सुधार न होने पर आंदोलनात्मक कदम उठाया जाएगा।

Spotlight

Related Videos

तो इस वजह से ग्रामीणों में मच गया हड़कंप

सोनभद्र के घोरावल में दो मगरमच्छ के नदी से बाहर आने से हड़कंप मच गया। ये दोनों मगरमच्छ बकहर नदी के किनारे आ गए थे।

23 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen