प्रधान पति के हत्यारोपी दूसरे दिन भी फरार

Badaun Updated Sat, 18 Aug 2012 12:00 PM IST
बदायूं। प्रधान के हिस्ट्रीशीटर पति की बृहस्पतिवार की शाम फिल्मी स्टाइल में हुई हत्या के दूसरे दिन शुक्रवार को भी नामजद आरोपी फरार हैं। एक आरोपी को पुलिस ने हिरासत में लिया है लेकिन उसका कोई आपराधिक रिकार्ड न होने की वजह से उससे पूछताछ की जा रही है। पुलिस का कहना है कि जल्द ही सभी आरोपी गिरफ्तार कर लिए जाएंगे।
बताते चलें कि कोतवाली बिसौली क्षेत्र के गांव मैथरा की प्रधान मधु के पति शेरबाबू की बृहस्पतिवार की शाम एक बाइक पर सवार तीन बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। यह वारदात चंदौसी हाइवे पर थाना सिविल लाइंस क्षेत्र के गांव दहेमी के पास हुई थी। इस घटना के बाद पुलिस ने मृतक केभाई लालबाबू की तहरीर पर गांव के वीरपाल के अलावा सर्वयूपी किसान ग्रामीण बैंक, मेरठ के प्रबंधक विनय शर्मा समेत एक अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया था। घटना केपीछे जमीन को लेकर पुरानी रंजिश की बात सामने आई थी। इस रंजिश में पहले भी एक हत्या हो चुकी है।
शाखा प्रबंधक विनय शर्मा बिसौली का रहने वाला है, देर शाम पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया। एसओ सिविल लाइंस सतीश यादव ने बताया कि शाखा प्रबंधक से शेरबाबू की क्या रंजिश थी, इसका खुलासा नहीं हो सका है। वहीं घटना के बाद आरोपी अपने घर में मिला, ऐसे में बिना जांच के उसकी गिरफ्तारी संभव नहीं है। हालांकि आरोपी से पूछताछ जारी है। एसओ ने बताया कि शेष दो आरोपियों की तलाश की जा रही है। उनकी गिरफ्तारी के बाद ही घटना की वजह से पर्दा उठ सकेगा।

अधेड़ के हत्यारोपी भी फरार
बदायूं। थाना उसहैत क्षेत्र के गांव सरैली निवासी 50 वर्षीय रामसेवक की बुधवार की रात कुछ लोगों ने गला रेतकर हत्या कर दी थी। उसके पुत्र कमलेश की तहरीर पर पुलिस ने दूसरे पक्ष के मटरू, राजवीर, रामवीर और मदनपाल के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया था। घटना के तीसरे दिन भी नामजदों की गिरफ्तारी के नाम पर पुलिस के हाथ खाली हैं। वहीं पुलिस की सुस्त कार्यप्रणाली से परिवार के लोगों में रोष व्याप्त है। एसओ धीरज सिंह सोलंकी ने बताया कि नामजदों की तलाश की जा रही है।

गांव पहुंचा शव तो मचा कोहराम
बिसौली (बदायूं)। पभनधान के पति शेरबाबू का शव बृहस्पतिवार रात गांव पहुंचा। पुलिस की मौजूदगी में शव की अंत्येष्टि कर दी गई।
कोतवाली क्षेत्र के गांव मैथरा निवासी पभनधान के पति शेरबाबू ठाकुर की 16 अगस्त की शाम सिविल लाइन थाना क्षेत्र में बदायूं हाइवे पर गांव सिलहरी के पास गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। देर रात पोस्टमार्टम हुआ। शव गांव लाया गया तो वहां मौजूद लोगों की आंखें नम हो गईं।
शुक्रवार को गांव के श्मशान घाट पर शव की अंत्येष्टि की गयी। शव को मुखाग्नि भाई लालबाबू सिंह ने दी। अन्तिम यात्रा में विधायक आशुतोश मौर्य उर्फ राजू, ब्लाक पभनमुख रामवीर सिंह यादव, घनश्याम माहेश्वरी, मनोज कुमार सिंह, गौरे पभनधान, डीपी सिंह, चेयरमैन अबरार अहमद, जिला पंचायत सदस्य महेंदभन पभनताप यादव, सुधीर सिंह आदि मौजूद रहे।

Spotlight

Related Videos

जानिए भारत में इमरजेंसी लगने के पीछे की असल वजह

25 जून 1975, देश के इतिहास का वो दिन जो कभी खुद को भी नहीं दोहराना चाहेगी। लोकतंत्र और प्रजातंत्र के लिए इसे एक काला दिन माना जाता है क्योंकि देश के हर एक नागरिक से उसका मौलिक अधिकार छिन गया था।

25 जून 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen