ओवररेट बेची जा रही खाद पकड़ी, दो पर रिपोर्ट

Badaun Updated Wed, 15 Aug 2012 12:00 PM IST
बदायूं। एक ओर खाद को लेकर हाहाकार मचा हुआ है तो दूसरी ओर इसे ओवररेट में बेचा जा रहा है। एक सहकारी समिति के सचिव ने खाद गोदाम पर न रखकर एक प्राइवेट दुकान पर रख दी। वहीं से किसानों को अधिक रेट में दी जा रही थी। यहां जिला कृषि अधिकारी आरके सिंह ने छापा मारा और खाद विक्रेता और समिति सचिव के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई।
जिला कृषि अधिकारी (डीएओ) साधन सहकारी समिति बैरमई कला पहुंचे। यहां गोदाम में गेहूं भरा मिला। वहीं से एक किमी दूर बलदाऊ खाद भंडार पर इफको यूरिया के 250 कट्टे रखे मिले। एक किसान ने पूछा तो कट्टे के रेट 370 बताए जबकि 301 रुपये मूल्य है। डीएओ ने बताया कि समिति पर स्टॉक बोर्ड नहीं लगा था न ही प्राइवेट गोदाम का पता था। ताकि किसान वहां जाकर खाद ले सकें। इसमें खेल हो रहा था। इसलिए खाद भंडार स्वामी अनिल कुमार शर्मा और सचिव त्रिवेणी के खिलाफ खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।
इसके अलावा इस्लामनगर की समितियां बंद मिलीं। हैवतपुर समिति पर 900 कट्टे दो जगह रखे मिले। गोदाम पर यह खाद नहीं उतारी गई। किसानों को बांटा भी नहीं जा रहा था। इसके लिए एआर को-ऑपरेटिव को कार्रवाई के लिए लिखा है। कृषि उपनिदेशक यूबी सिंह गौतम ने बिसौली, वजीरगंज क्षेत्र में छापा मारा। उन्होंने कहा कि समिति बंद मिली तो सचिव के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी।

Spotlight

Related Videos

उप राष्ट्रपति ने बताया, ‘फ्री बिजली मतलब नो बिजली’

उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने शनिवार को लखनऊ में आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि जनता मुफ्त बिजली के लोकलुभावन नारे के झांसे में बिल्कुल न आए। मुफ्त बिजली लेने के चक्कर में बिजली मिलती ही नहीं है।

26 मई 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे कि कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स और सोशल मीडिया साइट्स के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज़ नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज़ हटा सकते हैं और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डेटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy और Privacy Policy के बारे में और पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen