बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

दूसरे दिन भी नहीं लिखी गई गौतम की रिपोर्ट

Badaun Updated Mon, 13 Aug 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

बदायूं। दांपत्य जीवन की राहें अलग होने के बाद चिदर्पिता और उनके पति बीपी गौतम के बीच कानूनी जंग शुरू हो गई है। चिदर्पिता ने गौतम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया तो दूसरे दिन शनिवार को गौतम ने भी चिदर्पिता पर जरूरी दस्तावेज और अन्य सामान ले जाने का आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दी लेकिन दूसरे दिन रविवार की शाम तक पुलिस ने इस मामले में मुकदमा दर्ज नहीं किया है। एसपी मंजिल सैनी का कहना है कि विवेचना जारी है, घटना की पुष्टि होने पर ही मुकदमा दर्ज किया जाएगा।
विज्ञापन

विदित हो कि चिदर्पिता ने शुक्रवार की रात अपने पति बीपी गौतम के खिलाफ सिविल लाइंस थाने में दहेज उत्पीड़न, मारपीट और जान से मारने की धमकी देने के आरोप में मुकदमा दर्ज कराया था।

इसके दूसरे दिन शनिवार को गौतम ने चिदर्पिता के अलावा पूर्व गृहराज्य मंत्री स्वामी चिन्मयानंद समेत चार लोगों पर उनका जरूरी सामान और दस्तावेज ले जाने के आरोप में मुकदमा दर्ज कराने को पुलिस को तहरीर दी थी लेकिन रविवार की शाम तक मुकदमा दर्ज नहीं हो सका है। गौतम की मानें तो वे इस मामले में सोमवार को पुलिस अधिकारियों से मिलेंगे।

पूरे प्रकरण पर लगी हैं खुफिया निगाहें
बदायूं। चिदर्पिता और गौतम के बीच तकरार पर खुफिया निगाहें लगी हैं। सूत्रों की मानें तो एलआईयू ने इस मामले में पड़ताल भी शुरू कर दी है। जहां गौतम के परिचितों और रिश्तेदारों को टटोला जा रहा है वहीं वे लोग भी निगाह में हैं जो चिदर्पिता के इर्द-गिर्द रहते थे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X