विज्ञापन
विज्ञापन

किलिंग के लिए नहीं ऑनर शब्द

Badaun Updated Tue, 31 Jul 2012 12:00 PM IST
सूर्य प्रकाश गुप्त
विज्ञापन
विज्ञापन
बदायूं। न्यायालय षष्ठम अपर सेशन जज ने ऑनर किलिंग के मामले में फैसला सुनाते समय सुप्रीम कोर्ट की रूलिंग का जिक्र किया जिसमें कहा गया है कि ऑनर जैसे शब्द ऐसे नहीं हैं, जिसमें किलिंग की जाए। इसके अलावा पंजाब, हरियाणा हाईकोर्ट के उस निर्णय को भी अपने फैसले का हिस्सा बनाया, जिसमें मनोज और बबली नामक प्रेमी जोड़े की निर्दयतापूर्वक हत्या करके उनके शव को नदी में बहाने के मामले में आरोपियों को मृत्युदंड की सजा सुनाई गई है।
जिले की अदालत द्वारा सुनाए गए इस ऐतिहासिक फैसले में एक साथ पहली बार सात लोगों को फांसी की सजा हुई है। इससे पूर्व आजादी के बाद से अब तक अलग-अलग बलात्कार, हत्या और डकैती जैसे मामलों में 16 लोगों को फांसी की सजा सुनाई जा चुकी है। इस बीच एक साथ 12 आरोपियों को तिहरे हत्याकांड में उम्रकैद की सजा हुई है।
अभियुक्तों की सजा यदि ऊपर की अदालतों में माफ नहीं हुई तो इन्हें मरते समय अपनी सरजमीं भी नसीब नहीं हो पाएगी। ऐसा इसलिए कि जिले में फांसीघर नहीं है। इसके लिए उन्हें मंडल मुख्यालय बरेली के केंद्रीय कारागार ले जाना पड़ेगा। इससे पूर्व 16 लोगों में से 12 की फांसी की सजा हाईकोर्ट ने उम्रकैद में बदल दी। 1977 में तत्कालीन जिला जज महावीर सिंह ने दातागंज कस्बे में हुए त्रिवेणी सहाय हत्याकांड के आरोपी बालकराम को फांसी की सजा सुनाई थी। उस मामले में बालकराम की प्राणदान याचिका तत्कालीन राष्ट्रपति बीडी जत्ती ने मंजूर कर ली। लिहाजा फांसी के तख्ते से बालकराम को तीन बार उतारा गया और आखिरकार वह अपनी स्वाभाविक मौत मरा।

Recommended

Uttarakhand Board 2019 के परीक्षा परिणाम जल्द होंगे घोषित, देखने के लिए क्लिक करें
Uttarakhand Board

Uttarakhand Board 2019 के परीक्षा परिणाम जल्द होंगे घोषित, देखने के लिए क्लिक करें

शनि जयंती के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्
ज्योतिष समाधान

शनि जयंती के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

एग्जिट पोल 2019 में फिर एक बार मोदी सरकार के संकेत, यहां देखिए तमाम एजेंसियों के एग्जिट पोल

542 लोकसभा सीटों के एग्जिट पोल में एनडीए को बहुमत, यहां देखिए किस सर्वे में किसको मिली कितनी सीटें।

19 मई 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election