विज्ञापन
विज्ञापन

....और तीन महीने में नहीं बन पाया नया राशनकार्ड

Badaun Updated Sun, 29 Jul 2012 12:00 PM IST
बदायूं। मौजूदा राशनकार्ड तो वर्ष 2010 में अवैध हो चुके हैं लेकिन उनकी जगह पर अभी तक नए राशनकार्ड जारी नहीं किए जा सके हैं। अभी अप्रैल 2012 में प्रमुख सचिव ने पहले सभी राशनकार्ड नए सिरे से जारी करने का फरमान जारी किया था। यहां पूर्ति विभाग ने इस प्रक्रिया को शुरू करते हुए सभी एसडीएम, बीडीओ और क्षेत्रीय खाद्य अधिकारियों से सूचनाएं मांगनी शुरू की। इस बीच, 28 मई को सरकार ने पूर्व आदेश को निरस्त करते हुए सारी कवायद पर पानी फेर दिया है, जिससे नए राशनकार्ड जल्द मिलने की उम्मीद भी समाप्त हो गई है।
विज्ञापन
विज्ञापन
शासन हर साल पांच साल के लिए राशनकार्ड जारी किए जाते हैं। जिले में 73322 बीपीएल, 45221 अंत्योदय के साथ ही 537642 एपीएल राशन कार्ड हैं। यह सभी राशनकार्ड वर्ष 2005 में जारी हुए थे। तय समय सीमा के आधार पर ये सभी कार्ड वर्ष 2010 में अवैध हो चुके हैं। इसके बावजूद सरकार इन पुराने राशनकार्डों को नहीं बदल सकी है। अभी अप्रैल 2010 में प्रमुख सचिव बलविंदर सिंह ने नए राशनकार्डों की गाइड लाइन जारी करते हुए यह निर्देशित किया था कि राशनकार्डों का मुद्रण हस्तलिखित न होकर कम्प्यूटर से होगा। डिजिटलाइज्ड प्रविष्टियों को बैंक की पासबुकों की भांति राशनकार्ड के प्रारूप या कम्प्यूटर से अंकित कराया जाना चाहिए। इधर, शासन के नए निर्देश का अनुपालन शुरू कराते हुए नए राशनकार्डों के लिए सभी एसडीएम, बीडीओ और क्षेत्रीय खाद्य अधिकारियों से रिपोर्ट मांगने के साथ ही अन्य तैयारियां शुरू ही की थी कि इस बीच 28 मई को खाद्य एवं रसद विभाग के आयुक्त ने नए राशनकार्ड की पूर्व प्रक्रिया को निरस्त कर दिया और पुराने राशनकार्डों की वैधता छह माह के लिए बढ़ा दी है। उसके बाद से ही नए राशनकार्ड बनाने की प्रक्रिया पूरी तरह से ठप पड़ी हुई है।

तमाम फर्जी राशनकार्डों का लेखाजोखा नहीं
प्रशासन ने मई माह में सभी राशनकार्डों का सत्यापन कराया था, जिसमें जिलेभर में मिले 4629 एपीएल, 2182 बीपीएल और 1565 अंत्योदय राशनकार्ड अपात्र पाए गए थे। इन सभी राशनकार्डों को निरस्त कर दिया गया था। हालांकि लोगों का कहना है कि यह तो सिर्फ सरकारी रिपोर्ट है। अभी भी बड़ी संख्या में राशनकार्ड फर्जी हैं। इसका लेखाजोखा जिला पूर्ति विभाग के पास नहीं है।

नए राशनकार्डों के संबंध में अभी शासन से कोई नया निर्देश नहीं मिला है। अगर इस बाबत कोई गाइड लाइन मिलती है तो उसे पर फौरन अमल किया जाएगा।
नीरज कुमार सिंह, डीएसओ

Recommended

Uttarakhand Board 2019 के परीक्षा परिणाम जल्द होंगे घोषित, देखने के लिए क्लिक करें
Uttarakhand Board

Uttarakhand Board 2019 के परीक्षा परिणाम जल्द होंगे घोषित, देखने के लिए क्लिक करें

सवाल करियर का हो या फिर हो नौकरी से जुड़ा,  पाएं पूरा समाधान विश्वप्रसिद्व ज्योतिषाचार्यो से
ज्योतिष समाधान

सवाल करियर का हो या फिर हो नौकरी से जुड़ा, पाएं पूरा समाधान विश्वप्रसिद्व ज्योतिषाचार्यो से

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

कांग्रेस का सीएम त्रिवेंद्र पर बड़ा हमला, दिखाई करीबी के स्टिंग की वीडियो

मंगलवार को कांग्रेस ने सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत पर सीधा और बड़ा हमला किया। कांग्रेस ने व्यवसायी संजय गुप्ता और सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के करीबी रिश्तों का जिक्र किया और दोनों को बिजनेस पार्टनर बताया।

21 मई 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election