सीओ बिसौली की हरकत से बिगड़ा माहौल

Badaun Updated Wed, 18 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

वजीरगंज (बदायूं)। एक साथी घायल और दूसरे की पिटाई से आक्रोशित कांवरिये तीन घंटे तक जाम न लगाते लेकिन सीओ द्वारा कांवरियों को बार-बार पीएसी बुलाने की धमकी देने के चलते बात बिगड़ती रही और हजारों मुसाफिर जाम से हलकान हो गए। हालांकि बाद में एडीएम और एएसपी ने कांवरियों को शालीनता से समझाया तो जाम खुलते देर न लगी। इससे जाहिर है कि वजीरगंज में हुआ उपद्रव इतना तूल न पकड़ता लेकिन सीओ बिसौली हरिराम निमला की पीएसी बुलाने की धमकियों का खामियाजा जाम में फंसे मुसाफिरों को भुगतना पड़ गया।
विज्ञापन

बीते दो साल से सावन के महीने में जिले भर में कहीं न कहीं कांवरियों से पुलिस की झड़प होती है। बीते साल भी उझानी में कार की साइड लगने से बौखलाए कांवरियों ने जाम लगाया था, उस समय भी पुलिस ने कांवरियों को समझाने की जगह उन पर लाठियां भांजी थीं। हालांकि कांवरियों की मांग भी जायज नहीं थी उनका कहना था कि कार केड्राइवर को सामने लाया जाए लेकिन पुलिस ने उनकी नहीं सुनी, नतीजतन वहां जाम के साथ वाहनों में तोड़फोड़ भी की गई थी।
रास्ते से वापस लौटे पूर्व विधायक
आक्रोशित कांवरियों ने पूर्व शहर विधायक महेश गुप्ता को कई बार फोन करके धरनास्थल पर बुलाया, श्री गुप्ता कांवरियों को समझाने के लिए वजीरगंज निकले थे लेकिन उनकेपहुंचने से कांवरिये और उत्तेजित न हो जाएं इसलिए पुलिस अधिकारियों ने उनसे अनुग्रह कर रास्ते से ही वापस लौटा दिया।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us