मनरेगा में घपले का हो रहा खुलासा

Badaun Updated Tue, 17 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

बदायूं। मनरेगा में भी जिस तरह सत्यापन के दौरान कई मामले में गड़बड़ी और वित्तीय अनियमितताओं के मामले उजागर हो रहे हैं, उससे यह जाहिर हो रहा है कि योजना के तहत तमाम कार्यों में घपलेबाजी की गई है। सत्यापन कार्य अगर पारदर्शिता से पूरा कराया गया तो कई गड़बड़ी और बड़े मामलों सामने आ सकते हैं।
विज्ञापन

मनरेगा पर हर साल करोड़ों रुपये खर्च किए जाते हैं। पिछले साल भी 70-80 करोड़ का बजट कार्ययोजनाओं पर खर्च किया गया था। जबकि इन दिनों मनरेगा के कार्यों का सत्यापन कराया जा रहा है। इस दौरान कई मामलों में गड़बड़ी के कई मामले उजागर हुए हैं। इन दिनों प्रशासन विभिन्न योजनाओं के साथ मनरेगा के कार्यों का भी सत्यापन करा रहा है। इस दौरान वजीरगंज ब्लाक के वजीरगंज-उसैता के चार लाख के कार्य में बड़ी गड़बड़ी सामने आई है। सड़क के किनारे मिट्टी डालकर किया जा रहा पटरी निर्माण और पुलिया बनाने के कार्य में खुद सीडीओ ने कई गड़बड़ी पकड़ी और मामला सरकारी धन के दुरुपयोग का पाया गया। इसी तरह इसी ब्लाक में एमएफ रोड पर करीब साढ़े पांच लाख की लागत से बनाए जा रहे रेहरिया-पिपरिया संपर्क मार्ग के काम में कई गड़बड़ी उजागर हुई है। यहां भी मामला सरकारी धन के दुरुपयोग का पाया गया है। वजीरगंज के बरौर गांव में तमाम जॉबकार्ड धारकों के काम न देने का मामला भी सामने आया है। इसी तरह के कई और मनरेगा से जुड़े कई प्रकरण सामने आ रहे हैं। अभी तमाम ब्लाकों के सत्यापन बाकी है। एक-एककर उनकी रिपोर्ट भी आएंगी। अगर सत्यापन पूरी पारदर्शिता से कराए गए तो अभी घपले और गड़बड़ी के कई और मामले सामने आ सकते हैं।
फिसड्डी ग्राम पंचायतों पर लटकी कार्रवाई की तलवार
जिले के ऐसी ग्राम पंचायतों की फेहरिस्त काफी लंबी है, जिन्होंने मनरेगा की रकम खर्चकरने में दिलचस्पी नहीं दिखाई। नतीजा यह रहा कि उनके यहां या तो मनरेगा के काम हुए ही नहीं या फिर उनकी रफ्तार काफी कम रही। अब ऐसी ग्राम पंचायतों की सूची तैयार की जा रही है। सीडीओ ने बताया कि ऐसी ग्राम पंचायतों पर कार्रवाई होगी।

मनरेगा के कार्य में निगरानी रखी जा रही है। जांच में गड़बड़ी मिली तो कार्रवाई हर हाल में होगी। इस बड़े मामले में कार्रवाई भी की जा रही है।
सूर्यपाल गंगवार, सीडीओ
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us