विज्ञापन

सौरभ को बना दिया सुरभि

Badaun Updated Sat, 14 Jul 2012 12:00 PM IST
हाईस्कूल-इंटर की मार्कशीट में तमाम विद्यार्थियों के नाम बदले, माता-पिता के नाम भी कर दिए परिवर्तित
विज्ञापन
विज्ञापन
विद्यार्थी, कॉलेज और डीआईओएस कार्यालय के काट रहे चक्कर, कोई सुनने को तैयार नहीं
अगली कक्षाओं में प्रवेश के लिए विद्यार्थियों के छूट रहे पसीने
बदायूं। माध्यमिक शिक्षा परिषद हर साल मार्कशीट में होने वाली त्रुटियों के सुधार को बड़े-बड़े दावे करता है, लेकिन वह फेल हो जाते हैं। इस बार भी ऐसा ही हुआ। तमाम विद्यार्थियों की मार्कशीट में माता-पिता का नाम बदल दिया गया तो किसी छात्र सौरभ को सुरभि बना दिया गया। विद्यार्थी सुधार के लिए कॉलेज और डीआईओएस कार्यालय के चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन उन्हें राहत नहीं मिल रही है। इसके कारण वे अगली कक्षाओं में प्रवेश भी नहीं ले पा रहे हैं। कॉलेज प्रशासन उन्हें मार्कशीट में नाम गलत बताकर लौटा देते हैं। इससे उनकी परेशानी कम होने का नाम नहीं ले रही है।
पार्वती आर्य कन्या संस्कृत इंटर कॉलेज की छात्रा साना ने हाईस्कूल की परीक्षा दी थी। परीक्षा संपन्न हो गई। मार्कशीट आ गई, लेकिन उसमें माता और पिता का नाम गलत दर्शा दिया गया। माता का नाम यास्मीन बी है जबकि मार्कशीट में यासीन बी दर्शाया गया है। पिता के नाम को जाकिर हुसैन की जगह जाहिर हुसैन कर दिया गया है। इसके अलावा शहर के एक कॉलेज के छात्र सौरभ को सुरभि बना दिया गया। उसने भी हाईस्कूल की परीक्षा दी थी।
इनके अलावा तमाम विद्यार्थी ऐसे हैं जिनकी मार्कशीट में नाम, पिता और माता का नाम बदला हुआ है। इन विद्यार्थियाें को अब मार्कशीट मिली तो वे परेशान हैं। सही कराने के लिए कॉलेज प्रशासन के पास तो कभी डीआईओएस कार्यालय दौड़ लगा रहे हैं, लेकिन इन्हें कोई संतोषजनक उत्तर देने को तैयार नहीं है। विदित हो कि पिछले साल भी तमाम विद्यार्थियों के सामने यही समस्या खड़ी हुई थी। इसके लिए परिषद ने इस बार डाटा अपडेट मांगे थे, ताकि यह गलती नहीं दोहराई जा सके। क्रॉस चेकिंग के लिए कॉलेज प्रशासन के पास भी परीक्षा से पूर्व लिस्ट भेजी गई थी, लेकिन किस स्तर से गड़बड़ी हुई है, यह अधिकारी और कॉलेज प्रशासन एक-दूसरे पर टाल रहे हैं। इससे विद्यार्थियों की समस्या बढ़ती जा ही है।
डीआईओएस सुशीला अग्रवाल का कहना है कि जिन विद्यार्थियों की मार्कशीट में त्रुटियां हैं वे अपने कॉलेज से फार्म भरवाकर विभाग के पास जमा कर दें। त्रुटि सुधार के लिए कोई शुल्क देय नहीं है। यहां से भेजने के बाद मार्कशीट सही होकर आ जाएंगी। विद्यार्थी परेशान न हों।

Recommended

क्या आप अपने करियर को लेकर उलझन में हैं ? समाधान पाएं हमारे अनुभवी ज्योतिषाचार्य से
ज्योतिष समाधान

क्या आप अपने करियर को लेकर उलझन में हैं ? समाधान पाएं हमारे अनुभवी ज्योतिषाचार्य से

जानें क्यों होता है बार-बार आर्थिक नुकसान? समाधान पाएं हमारे अनुभवी ज्योतिषाचार्य से
ज्योतिष समाधान

जानें क्यों होता है बार-बार आर्थिक नुकसान? समाधान पाएं हमारे अनुभवी ज्योतिषाचार्य से

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

वायुसेना की बढ़ी ताकत, चार चिनूक हेलीकॉप्टर हुए शामिल

भारत को आज चार चिनूक हेलीकॉप्टर मिल गए। चंडीगढ़ में बाकायदा एक सेरेमनी के बाद इन्हें वायुसेना में शामिल कर लिया गया।

26 मार्च 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election