विज्ञापन

पास रहकर भी किसानों से दूर न रह जाए खाद

Badaun Updated Fri, 06 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
अनूप गुप्ता
विज्ञापन
बदायूं। बफर गोदाम भरे रहने के बावजूद किसानों को खाद का अकाल झेलना पड़ सकता है। पैक्स समितियों को उधार खाद उपलब्ध कराने के लिए जो जिला सहकारी बैंक (डीसीबी) गारंटी देता है, वह खुद ही कंगाली के दौर से गुजर रहा है। रही सही कसर यूपी कोऑपरेटिव बैंक ने अभी तक डीसीबी को सीसी (कैश क्रेडिट)लिमिट न देकर पूरी कर दी है। ऐसे जटिल दौर से गुजर रही डीसीबी के सचिव/ महाप्रबंधक ने डीएम, एआर कोऑपरेटिव सहित कई अधिकारियों को पत्र लिखा है।
खाद बिक्री के लिए जिलेभर में 132 सहकारी समितियों का जाल बिछा हुआ है। इन सभी को डीसीबी बैंक गारंटी देते हुए पीसीएफ से खाद उपलब्ध करता है। मगर, इस बार बैंक की आर्थिक स्थिति बेहद खराब है। इसके अलावा यहां डीसीबी की यूपी कोऑपरेटिव बैंक से भी सीसी लिमिट अभी तक तय नहीं हुई है, जिससे उसे काफी राहत मिल सकती है। हालात यही रहे तो समितियों को डीसीबी बैंक गारंटी नहीं दे सकेगा, जिसके साथ ही समितियों पर खाद की आपूर्ति भी ठप हो जाएगी।

कैसे तय होती है समितियों की सीसी लिमिट
सभी सहकारी बैंकों की कैश क्रेडिट लिमिट तय होती है। सहायक निबंधक सहकारी समितियां और डीसीबी बैंक प्रबंधक मिलकर यह सीमा निर्धारित करते हैं। इसी सीमा में रहते हुए कोई समिति उधार खाद ले सकती है। लिमिट की एक साथ खाद की सप्लाई न होकर कई बार में दी जाती है।

अभी मुट्ठीभर ही जुटाई जा सकी रकम
प्रत्येक सहकारी समिति पर अगर एक ट्रक, जिसमें करीब 15 मीट्रिक टन खाद आती है, उसके दाम तकरीब चार से पांच लाख रुपये हो सकते हैं। इस तरह 132 समितियों के लिए आठ से नौ करोड़ की जरूरत है। जबकि अभी तक डीसीबी तीन करोड़ दस लाख 45 हजार का ही भुगतान कर सकी है। जाहिर है कि बैंक को अभी काफी रकम की जरूरत है।

वसूली अच्छी न होने से बैंक की आर्थिक हालत बेहद खराब है। यूपी कोऑपरेटिव बैंक से भी अभी लिमिट नहीं तय हो सकी है। समितियां अगर जल्द ही बकाया की रकम वापस कर दें तो समस्या नहीं खड़ी होगी।
मंागेराम, सचिव/ महाप्रबंधक, जिला सहकारी बैंक

यह बैंक की जिम्मेदारी है कि वह समितियों के लिए बैंक गांरटी को पूरा करे। अगर समितियों को खाद आपूर्ति प्रभावित होती है तो वह उच्चाधिकारियों को लिखा-पढ़ी करेंगे।
नरेंद्र कुमार, जिला सहायक निबंधक सहकारी समितियां
विज्ञापन
विज्ञापन

Recommended

मैसकट रिलोडेड- देश की विविधता में एकता का जश्न
Invertis university

मैसकट रिलोडेड- देश की विविधता में एकता का जश्न

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020
Astrology Services

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020

विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

कोरोनावायरस: चीन के वुहान से लौटे 406 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव, जल्द जा सकेंगे अपने घर

वुहान से भारत लाए गए 406 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। इन सभी लोगों को आईटीबीपी के सुविधा केंद्र में रखा गया था। अब ये सभी जल्द अपने घर जा सकेंगे।

16 फरवरी 2020

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us