विज्ञापन

गुरु पूर्णिमा आज, बीच धार में है काफी पानी

Badaun Updated Tue, 03 Jul 2012 12:00 PM IST
उझानी(बदायूं)। गुरु पूर्णिमा के अगले दिन से शुरू हो रहा सावन का महीना गंगा मइया के प्रति कांवरियों की आस्था से सराबोर होगा। हालांकि जल स्तर पिछले दिनों के मुकाबले बढ़ा हुआ है लेकिन बीते सावन के महीनों जैसा नहीं। इस बीच चार दिन पहले ही गंगा की धार बदायूं वालों के घाट को छू कर फिर खिसक गईं।
विज्ञापन
विज्ञापन
सावन के महीनों में कछला गंगाघाट पर हर साल जल स्तर काफी बढ़ा हुआ रहता आया है। पिछले सालों के मुकाबले जल स्तर काफी कम है लेकिन सप्ताहभर पहले जिस ढंग से गंगा में जल स्तर बढ़ा, वह भी कम हो गया है। चार-पांच दिन पहले तक गंगा की धार बदायूं की ओर वाले घाट को छूने लगी थी। जल स्तर में गिरावट के साथ धार भी मुड़कर फिर से कांशीरामनगर पुलिस क्षेत्र की तरफ पहुंच गई है। कांवरियों को जल भरने से पहले रेतीले टीलों पर सफर करना होगा।
इस बीच घाट पर मौजूद दुकानदारों में प्रकाश का कहना है कि गंगा की धार का रुख बार-बार बदलने से झोपड़ियां हटाने और फिर स्थापित करने में अब तक दर्जनों मर्तबा मशक्कत करनी पड़ी है। इधर, गुरु पूर्णिमा मंगलवार को है। पूर्णिमा पर भी हजारों श्रद्धालुओं के पहुंचने की उम्मीद है। जबकि कांवरियों की टोलियां अगले दिन से बम-बम भोले के जयकारों के साथ कछला समेत हाइवे पर नजर आएगीं। कांवरियों समेत स्नानार्थियों की सुविधा को प्रशासनिक स्तर से कोई इंतजाम नहीं किए गए हैं।

कछला से जल भरकर लाने वाले शिवभक्त कांवरियों को इस बार मार्केट में भी परेशानी का सामना करना पड़ेगा। मार्केट में गौशाला मोड़ के आसपास नाले का गंदा पानी सड़क पर आ गया है। जबकि कांवरियों के आने-जाने का यही रूट है। बाइपास पर कांवरिए इसलिए नहीं जाते कि अतिरिक्त सफर तय करना पड़ता है। इसी तरह मंडी समिति से छतुइया रेल फाटक तक गेहूं लदे ट्रकों की लंबी लाइन भी कांवरियों के सामने दिक्कत का कारण बनेगी।

Recommended

सर्दी में ज्यादा खाएं देसी घी, जानें क्यों कहते हैं इसे ब्रेन फूड और क्या-क्या हैं इसके फायदे
ADVERTORIAL

सर्दी में ज्यादा खाएं देसी घी, जानें क्यों कहते हैं इसे ब्रेन फूड और क्या-क्या हैं इसके फायदे

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

आज का पंचांग : 17 जनवरी 2019, गुरुवार

गुरुवार को लग रहा है कौन सा नक्षत्र और बन रहा है कौन सा योग? दिन के किस पहर करें शुभ काम? जानिए यहां और देखिए पंचांग गुरुवार 17 जनवरी 2019

17 जनवरी 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree