विज्ञापन

बदमाशों के डर से बंजारों ने किया पलायन

Badaun Updated Fri, 29 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
वजीरगंज (बदायूं)। बंजारों के खेमे पर मंगलवार की रात बदमाशों द्वारा धावा बोलकर लूटपाट करने की घटना का तीसरे दिन बृहस्पतिवार को पर्दाफाश न होने से भयभीत बंजारे पलायन कर गए हैं। वहीं पुलिस ने बृहस्पतिवार की शाम को कुछ संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया है। पकड़े गए लोगों की पिछले दिनों जिले में हुईं कई घटनाओं में संलिप्त होने की चर्चा है।
विज्ञापन
विदित हो कि कस्बा वजीरगंज स्थित एक बारातघर के पीछे लगभग 50 बंजारे बीते दो साल से डेरे जमाकर रह रहे थे। सभी बंजारे शाहजहांपुर के गांव राउतपुर के रहने वाले हैं। मंगलवार की मध्यरात्रि में आधा दर्जन से अधिक हथियारबंद बदमाशों ने बंजारों के खेमे पर धावा बोलकर सात लोगों को घायल कर दिया था। साथ ही महिलाओं की सवा किलो चांदी के जेवरात और कुछ सोना भी लूटा था। घायल बंजारों ने जिला अस्पताल में इलाज कराया था।
चूंकि बदमाश दोबारा आने की धमकी देकर गए थे और तीसरे दिन तक पुलिस बदमाशों को नहीं पकड़ सकी है। ऐसे में बृहस्पतिवार को बंजारों ने वहां से पलायन कर दिया है। पलायन करने वालों में सुरेश, नीता, शर्मीला, रामबाबू, असमाना, टिंकू, अमर सिंह और जयपाल आदि शामिल हैं। इधर, शाम को पुलिस ने छह संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया है। पकड़े गए लोग गैर जिले केहैं। चर्चा है कि इन लोगों ने जिले में कई अन्य वारदातों को भी अंजाम दिया है। ऐसे में पुलिस फिलहाल इनके बारे में कुछ भी बताने को राजी नहीं है। एसओ मनोज बिरला ने बताया कि मामले की जांच चल रही है। दो दिन में घटना का पर्दाफाश कर देंगे।
विज्ञापन
विज्ञापन

Recommended

मैसकट रिलोडेड- देश की विविधता में एकता का जश्न
Invertis university

मैसकट रिलोडेड- देश की विविधता में एकता का जश्न

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020
Astrology Services

विवाह संबंधी दोषों को दूर करने के लिए शिवरात्रि पर मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक : 21-फरवरी-2020

विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

स्थायी कमीशन से महिला सैनिकों को कितना होगा फायदा

भारतीय सशस्त्र बलों में महिला अधिकारियों को स्थायी कमीशन के मिलने से न केवल रक्षा के क्षेत्र में भारत का डंका बजेगा बल्कि सभी सेवा कर्मियों के लिए अवसर की समानता भी उपलब्ध होगी।

17 फरवरी 2020

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us