जांच रिपोर्ट डीआईजी के पास पहुंची

Badaun Updated Fri, 22 Jun 2012 12:00 PM IST
बदायूं। पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ उनकी ही शिष्या चिदर्पिता द्वारा किए गए मुकदमे के मामले की जांच पूरी कर बदायूं पुलिस ने इसकी रिपोर्ट बृहस्पतिवार को डीआईजी बरेली रेंज को सौंप दी, जो महिला आयोग ने मांगी थी। डीआईजी खुद यहां चुनाव के सिलसिले में सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने के लिए आए हुए थे। उन्होंने कहा कि यह जांच गोपनीय है लिहाजा इसका खुलासा नहीं किया जा सकता है।
विदित हो कि स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ बीते साल 30 अक्टूबर को उनकी ही पूर्व शिष्या साध्वी चिदर्पिता ने शाहजहांपुर की सदर कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इससे पूर्व साध्वी ने बदायूं निवासी पत्रकार वीपी गौतम से शादी कर ली थी। चिदर्पिता ने स्वामी पर आरोप लगाया था कि वह मुमुक्ष आश्रम में निवास के दौरान उनसे बलात्कार किए, मानसिक शोषण और मारपीट की भी कोशिश की। इसी मामले में चिदर्पिता की ओर से शाहजहांपुर पुलिस पर निष्पक्ष जांच से भरोसा उठ गया था, लिहाजा उन्होंने दूसरे जिले की पुलिस से जांच कराने की मांग की थी।
डीआईजी एलवी एंटनी देवकुमार ने की गई मांग के तहत यह जांच बदायूं पुलिस को हफ्ता भर पूर्व सौंपी थी। एसपी मंजिल सैनी ने इस मामले की जांच सीओ सिटी सत्यसेन यादव से कराई। श्री यादव ने जांच रिपोर्ट एसपी को सौंपी और एसपी श्रीमती सैनी ने यह रिपोर्ट बृहस्पतिवार को डीआईजी को सौंप दी। एएसपी सिटी पियूष श्रीवास्तव ने बताया कि अभी जांच के कुछ पहलू बाकी हैं, वह रिपोर्ट बाद में डीआईजी को सौंपी जाएगी।

Spotlight

Related Videos

भारत में खालिस्तान के इस खूंखार आतंकी को न्योता भेजा कनाडाई पीएम ने

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के लिए आयोजित डिनर पार्टी में भारतीय मंत्री पर जानलेवा हमले के दोषी को आमंत्रित किया गया।

22 फरवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen