विज्ञापन

मान्यता की फाइलों की रिपोर्ट नहीं आई

Badaun Updated Wed, 20 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
बदायूं। शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत स्कूलों को मान्यताएं मिलनी थीं। इसके लिए जिलेभर से लगभग 200 संचालकों ने मान्यता के लिए फाइल बेसिक शिक्षा विभाग के पास जमा कराई। इसके सत्यापन के लिए फाइलें संबंधित खंड शिक्षा अधिकारियों को दी गई थी, लेकिन इनकी जांच अभी तक पूरी नहीं हो पाई है। जबकि स्कूल खुलने में महज दस दिन शेष बचे हैं। संचालकों का कहना है कि यह सत्र उनका शून्य ही निकलता नजर आ रहा है।
विज्ञापन

2010 में शिक्षा का अधिकार अधिनियम लागू हुआ था। इसके तहत विद्यालय की मान्यता के नियम कड़े हो गए। जिसका हर स्कूल संचालक पालन नहीं कर पा रहे थे। नए सिरे और पुराने चल रहे स्कूलों से दोबारा मान्यता के लिए आवेदन करने की तिथि पिछले साल अगस्त माह में घोषित की गई थी। नियम था कि 20 इनटु 20 के पांच कक्षा कक्ष होंगे, प्रधानाध्यापक कक्ष के अलावा स्टाफ कक्ष, स्कूल के नाम जमीन का बैनामा, खेलने को मैदान, प्रशिक्षित शिक्षक होने चाहिए। इसके लिए 200 फाइलें मान्यता को विभाग के पास पहुंची, लेकिन अभी तक खंड शिक्षा अधिकारियों ने यह जमा नहीं की। हालांकि कुछ फाइलों की जांच आ गई है।
जांच न आने पर जिला स्तरीय अधिकारी भी उनसे जवाब मांगने से बच रहे हैं। सूत्र बताते हैं कि इसमें खेल हो रहा है। तमाम स्कूल मानकों को पूरा नहीं कर रहे हैं, लेकिन मोटी रकम लेकर मानक सही दिखाए जा रहे हैं, जो शिक्षा का अधिकार अधिनियम का उल्लंघन है। स्कूल संचालकों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि अधिकारी जान-बूझकर उनके विद्यालयों की रिपोर्ट नहीं दे रहे हैं। इसके लिए रकम की डिमांड की जा रही है। इसलिए इस सत्र में कक्षाएं लगाना मुश्किल है। महकमे के अधिकारियों का कहना है कि अधिकांश फाइलों की जांच आ गई हैं। कुछ बकाया है, वह अधिकारियों से मंगवाई गई हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us