विज्ञापन

नसीब नहीं हो सका ढाई करोड़ का पोषाहार

Badaun Updated Tue, 19 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
बदायूं। ढाई करोड़ से ज्यादा का पोषाहार बच्चों को नहीं नसीब हो सका। बाल विकास परियोजना के तहत हॉट कुक योजना में यह बजट पिछले वित्तीय साल जारी हुआ था, लेकिन महकमा ने हॉटकुक को लेकर गंभीरता नहीं दिखाई, जिसका नतीजा रहा कि इतनी भारीभरकम रकम खर्च ही नहीं हो सकी। वित्तीय साल बीतने के बाद विभाग को यह रकम शासन को वापस भेजनी पड़ी।
विज्ञापन

बाल विकास परियोजना के तहत पिछले वित्तीय साल 2011-12 में जिले के सभी 3432 आंगनबाड़ी केंद्रों को हॉट कुक योजना का चार करोड़ 97 लाख की रकम जारी की गई थी। इस योजना के तहत आंगनबाड़ी केंद्रों पर तीन से छह वर्ष साल के बच्चों को पका पकाया पोषाहार दिया जाना था। विभाग ने इस योजना के तहत जबरदस्त लापरवाही दिखाई। ज्यादातर मामलों में सिर्फ कागज पर ही बच्चों की उपस्थित दर्ज कराई गई और उनके नाम पर हॉटकुक की रकम में खेल होता रहा। इसके बावजूद विभाग इस योजना का करीब दो करोड़ 67 लाख 32 हजार रुपये खर्च ही नहीं कर सका। गरीब बच्चों को मिलने वाले पोषाहार की इतनी बड़ी वापस होने से यह साबित हो गया है कि विभाग ने इस योजना को लेकर जबरदस्त लापरवाही दिखाई है।
पुष्टाहार के लिए तय हुए थे मीनू
हॉट कुक योजना के तहत बच्चों को पुष्टाहार देने के लिए अलग-अलग दिनों के लिए मीनू तय किया गया था। इसके लिए अनाज मिड डे मील योजना के तहत उपलब्ध होना है, जिसका भुगतान सीडीपीओ स्तर से होना है।

हॉटकुक का इतना पैसा जारी करना यह साबित कर रहा है कि जिले में इस योजना को लेकर लापरवाही बरती गई है। इस साल ऐसा न हो, इस पर पूरी निगरानी रखी जाएगी।
डॉ आरती सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us