प्रधानाध्यापक की हत्या के मामले में चार पर रिपोर्ट

Badaun Updated Mon, 18 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free में
कहीं भी, कभी भी।

70 वर्षों से करोड़ों पाठकों की पसंद

बदायूं। आंवला निवासी प्रधानाध्यापक की शनिवार की शाम दिनदहाड़े बदायूं-आंवला मार्ग पर गोली मारकर हत्या के मामले में शनिवार की देर रात पुलिस ने प्रधानाध्यापक की पत्नी की तहरीर पर दूसरे पक्ष के चार लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। नामजदों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस के अलावा एसओजी टीम को भी लगाया गया है।
विज्ञापन

विदित हो कि बरेली के कस्बा आंवला के मोहल्ला गंजपीतमपुर निवासी 40 वर्षीय नारायण सिंह रामपुर के गांव मधुकर ढकिया स्थित जनता जूनियर हाईस्कूल में प्रधानाध्यापक थे। विद्यालय की जमीन को लेकर उनका गांव के ही शिवराज सिंह के परिवार से झगड़ा चल रहा था। विपक्षियों ने एक दशक पूर्व नारायण सिंह का अपहरण भी किया था। इस मामले में शिवराज जेल में बंद है। इसी मामले की तारीख करने के लिए शनिवार को नारायण सिंह बदायूं आए थे, यहां से लौटते वक्त आंवला मार्ग पर कार सवार कुछ लोगों ने उनकी गोली मारकर हत्या कर दी थी।
इस मामले में देर रात सिविल लाइंस पुलिस ने प्रधानाध्यापक की पत्नी मीना की तहरीर पर ब्रजराज, उसका बेटा सोनू, अभिनंदन और हरिराज के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। एसओ सिविल लाइंस सतीश यादव ने बताया कि नामजदों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम रवाना कर दी गई है।
शिवराज पर हैं 48 मुकदमें
पुलिस के मुताबिक प्रधानाध्यापक के विपक्षी शिवराज सिंह और उसके परिवार के लोगों के खिलाफ रामपुर समेत विभिन्ना थानों में हत्या, अपहरण, मारपीट, पुलिस पार्टी पर बमबारी समेत लगभग 48 मुकदमे दर्ज हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us