विज्ञापन

एक प्रधानाध्यापक समेत 18 शिक्षक निलंबित

Badaun Updated Sun, 17 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
बदायूं। नगर निकाय सामान्य निर्वाचन में ड्यूटी आदेश लेने से इंकार करने पर बेसिक शिक्षा अधिकारी कृपा शंकर वर्मा ने एक प्रधानाध्यापक समेत 18 शिक्षकों को निलंबित कर दिया। इसके अलावा चुनाव कार्यों के दौरान जिला मुख्यालय से बाहर चले जाने पर 14 शिक्षकों के वेतन पर रोक लगा दी गई।
विज्ञापन
विदित हो कि नगर निकाय चुनाव के लिए अधिसूचना जारी होने के बाद शिक्षकों की ड्यूटी अलग-अलग कार्य के लिए लगाई गई थी, लेकिन कई शिक्षकों ने ड्यूटी आदेश लिए नहीं तो किसी ने फोन पर लेनेे से इंकार कर दिया। इसकी रिपोर्ट खंड शिक्षा अधिकारियों ने बीएसए को दी। शासकीय कार्यों में बाधा उत्पन्न होने के कारण ये कार्रवाई की गई।
ये हैं निलंबित शिक्षक
प्राथमिक स्कूल सर्वा की सहायक अध्यापक अर्चना, समसपुर भूड़ के राजीवपाल, गुलड़िया द्वितीय की रश्मि पांडेय, पैगा भीकमपुर की शर्मिष्ठा, अंताईपुर की दीप्ति मौर्य, स्वदेशपुर की राधा कुमारी, नवादा बिसौली की कृष्णा यादव, धनियावली की प्रीति यादव, भोजपुर की शिवांगी, लक्ष्मीपुर द्वितीय की शामिली गौतम, दियोरिया के प्रधानाध्यापक रामप्रकाश पाठक, पवसरा मढै़या की जैनिब फात्मा, मई कला के सुरेंद्र कुमार, लढ़ौली के शैलेश कुमार, जखौरा जौहरपुर के पंचानन सिंह, बुद्धनगर के राकेश पांडेय, प्राथमिक स्कूल दम्मीनगर में तैनात शिक्षक राजीव पचौरी और उच्च प्राथमिक स्कूल भवानीपुर खैरु में तैनात शिक्षक कमलेश बाबू गुप्ता को निलंबित कर दिया गया।
इनके वेतन पर लगाई गई रोक
प्राथमिक स्कूल महमूदा टप्पा रियोनाई के सहायक अध्यापक सत्यप्रकाश सिंह, जिजाहट के संतोष कुमार सिंह, मुहम्मदपुर उदा के दिनेश चौहान, पूर्व माध्यमिक विद्यालय मुड़ारी सिधारपुर की कामिनी कौशल, शेखपुर सैदपुर की बबिता राजपूत, हसनपुर टप्पा वैश्य की शिखा शर्मा, नवलपुर के प्रदीपक कुमार, रिजोली की अर्चना सिंह, सहपुरा की सीमा रानी, रिजोला द्वितीय की आरती तिवारी, रसूलपुर नगला के तौहीद खान, मिर्जापुर अतिराज की प्रधानाध्यापक ऊषा वर्मा, अजरऊ के पवन कुमार सिंह और प्राथमिक स्कूल खिरिया हुमायूं में तैनात शिक्षक अरुण कुमार दीक्षित के वेतन पर रोक लगा दी गई।

विभाग ने नहीं दी सूचना
जिन शिक्षकों पर कार्रवाई हुई है उनमें से तमाम ने कहा कि महकमे के अधिकारियों ने ऐसा कोई आदेश नहीं दिया कि उन्हें जिला मुख्यालय छोड़ना है या नहीं। यदि विभाग उन्हें सूचना देता तो वह अपने कार्यों से बाहर नहीं जाते और ड्यूटी करते। इसमें विभाग की भी बड़ी लापरवाही उजागर हो रही है। हालांकि अफसर इस बात से इंकार कर रहे हैं।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

इटली में शादी कर मुंबई पहुंचे दीपिका-रणवीर, साथ में दिखे बेहद खुश

दीपिका पादुकोण और रणवीर सिंह इटली में शादी कर देश लौट आए। दोनों को साथ में मुंबई एयरपोर्ट पर स्पॉट किया गया। मुंबई एयरपोर्ट पर मीडिया पर्सन के अलावा उनकी एक झलक पाने के लिए फैंस की भीड़ भी दिखी।

18 नवंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree