विज्ञापन

शहर के आधा दर्जन मोहल्ले 17 घंटे अंधेरे में डूबे रहे

Badaun Updated Sat, 16 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
बदायूं। शहर के आधा दर्जन से अधिक मोहल्ले 17 घंटे अंधेरे में डूबे रहे। बृहस्पतिवार की शाम चार बजे गुल हुई बत्ती शुक्रवार की सुबह नौ बजे आई। रातभर गर्मी से लोग परेशान रहे। अधिकारियों के फोन रातघर घनघनाते रहे, लेकिन किसी ने समस्या का समाधान नहीं किया। लोग बूंद-बूंद पानी को भी तरसते रहे। महकमे के अधिकारियों का कहना है कि बिजली का तार टूट गया था, रात को कोई सही करने को तैयार नहीं था, इसलिए सुबह ठीक करवाया गया।
विज्ञापन

बिजली के शेड्यूल में शाम चार से छह बजे तक कटौती दर्ज है। 22 घंटे सप्लाई हो रही है, लेकिन यह सिर्फ कागजों में। महकमे के अधिकारियों की कागजी बाजीगरी के कारण उपभोक्ता परेशान हैं। हर दिन किसी न किसी मोहल्ले की बत्ती गुल हो रही है, जो घंटों तक आती ही नहीं। अफसर एसी में आराम फरमाते हैं, लोगों की परेशानी से उनको क्या लेना-देना। बृहस्पतिवार की शाम चार बजे शहवाजपुर, पटियाली सराय, नई सराय, कूंचापांडा, मिर्धाटोला मोहल्लों की बिजली गुल हो गई। उसके बाद तो उपभोक्ताओं का रातभर हर घंटे गर्मी में दम घुटता रहा। जैसे-तैसे रात लोगों ने काटी, लेकिन सुबह पानी नहीं मिला। पेयजल आपूर्ति प्रभावित रही। हैंडपंप पर लोग भीड़ लगाए रहे। सुबह नौ बजे बिजली आई तो लोगों ने राहत की सांस ली।
एसडीओ टाउन लोकेश जुनेजा ने बताया कि मौर्य छात्रावास के पीछे बिजली का तार टूट गया था। वह तालाब में जा गिरा। रात को कोई सही करने को तैयार नहीं हुआ। सुबह ठीक करवाया गया। लोगों का कहना है कि अधिकारियों को आराम चाहिए, इसलिए उन्होंने रात को तार नहीं जुड़वाया। रातभर हजारों लोगों की परेशानी नहीं समझी।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us