युवकों को बंधक बनाकर बाइक ले गए बदमाश

Badaun Updated Sat, 09 Jun 2012 12:00 PM IST
सहसवान (बदायूं)। दो युवकों को बदमाशों ने बृहस्पतिवार की रात बंधक बनाकर खेत में डाल दिया। बाद में उनकी बाइक लूटकर बदमाश भाग निकले। दोनों युवक हलवाई का काम करते हैं। एक व्यक्ति के घर शादी समारोह में भोजन बनाने के लिए सामान लेने दोनों उसी व्यक्ति की बाइक लेकर जा रहे थे।
दूसरे दिन शुक्रवार की सुबह ग्रामीणों ने युवकों को बंधनमुक्त किया। बाद में दोनों ने पुलिस को तहरीर देकर पूरा प्रकरण बताया। इस घटना से इलाके में दहशत का माहौल कायम है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।
थाना मुजरिया क्षेत्र के गांव मूसेपुर निवासी अमरपाल की पुत्री की नौ जून को बारात आनी है। इससे एक दिन पूर्व शुक्रवार को अमरपाल ने गांव वालों और संबंधियों की अपने घर पर दावत रखी थी। मेहमानों को भोजन बनाने की व्यवस्था के लिए हलवाई लगे थे। बृहस्पतिवार की शाम हलवाइयों में शामिल दो युवक हरिशचंद्र निवासी गांव सिरसा और राजकुमार निवासी गांव गढ़िया को कुछ सामान लेने सहसवान जाना था। इसके लिए दोनों अमरपाल की पुत्री के विवाह में दहेज में देने को लाई गई बाइक लेकर सहसवान को रवाना हो गए।
रास्ते में मूसेपुर-सहसवान मार्ग पर हथियारबंद चार बदमाशों ने बाइक रुकवा ली और हरिशचंद्र एवं राजकुमार को बांधकर खेतों में डाल दिया। बाद में बदमाश बाइक लेकर भाग निकले।
पूरी रात दोनों युवक खेतों में पड़े रहे। दूसरे दिन शुक्रवार की सुबह गांव वालों ने उन्हें बंधनमुक्त किया तो दोनों ने मूसेपुर पहुंचकर पूरा प्रकरण बताया। दोपहर को घटना की तहरीर पुलिस को दी गई है, देर शाम तक पुलिस ने मुकदमा दर्ज नहीं किया था।

कार में बैठाकर ग्रामीण से 26 हजार छीने
सहसवान। कोतवाली क्षेत्र के गांव जरीफपुर गढ़िया निवासी हप्पू बृहस्पतिवार को घर से 26 हजार रुपये लेकर बैल खरीदने निकला था। हप्पू ने बताया कि गांव के बाहर चुंगी के पास दो लोग खड़े दिखे। इन लोगों ने हप्पू से बातचीत के दौरान यह पता कर लिया कि वह बैल खरीदने जा रहा है। बकौल हप्पू इन लोगों ने उसे कार से नखासे में चलकर बैल खरीदवाने का झांसा दिया और मोबाइल से अपने साथियों को फोन कर दिया। कुछ देर बाद तीन लोग एक कार में सवार होकर वहां पहुंच गए और हप्पू को कार में बैठाकर चल दिए। कुछ दूर ले जाने के बाद सभी ने मिलकर कार में ही हप्पू की पिटाई लगाई और उसके पास रखे 26 हजार रुपये लूट लिए। घटना की तहरीर पुलिस को दी गई है।

Spotlight

Related Videos

देखिए सरकार ने क्यों लगाया फेसबुक-गुगल पर जुर्माना

सुप्रीम कोर्ट ने अपने एक फैसले में फेसबुक, गुगल और अन्य सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर 1 लाख का जुर्माना लगाया है। इस रिपोर्ट में देखिए आखिर क्यों लगा है जुर्माना।

22 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen