‘जनता और जुल्म के बीच खुद आ जाऊंगा’

Badaun Updated Thu, 07 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
बदायूं। भारतीय जनता पार्टी से नगर पालिका अध्यक्ष पद केप्रत्याशी ओमप्रकाश मथुरिया ने कहा कि एक जनप्रतिनिधि शहर का सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ना चाहता है। कहा कि बदायूं के इतिहास में कभी ऐसा नहीं हुआ कि अपने पास बुलाए गए लोगों को किसी ने झूठे मुकदमे में जेल भिजवाया हो या किसी की जमीन पर कब्जा करने की कोशिश की गई हो, लेकिन एक प्रतिनिधि ने इसे भी कर दिखाया। इसी से सांप्रदायिक माहौल बिगड़ने की आशंका है। शहर की तरक्की और आम आदमी की सुरक्षा के लिए मेरा दावा है कि व्यापारियों और गरीबों पर होने वाले जुल्म के बीच में खुद आकर जनता को बचाऊंगा।
विज्ञापन

पालिकाध्यक्ष के प्रत्याशी श्री मथुरिया बुधवार को शहर के इंदिरा चौक के एक होटल में पत्रकारों से रूबरू थे। कहा कि जमीन पर कब्जे की कोशिश में एक जनप्रतिनिधि पर मुकदमा दर्ज हुआ, सत्तारुढ़ लोगों ने अपने ही प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। यहां तक कि मंडी समिति के पास दिनदहाड़े फायरिंग कर आतंक फैलाया गया। यह सब एक जनप्रतिनिधि के तीन माह के कार्यकाल में घटित हुआ है। उन्होंने कहा कि वह खुद दो बार पालिकाध्यक्ष पद पर रह चुके हैं और सीमित संसाधनों में भी शहर के विकास में कोई कमी नहीं छोड़ी। इसके साथ शहर की जनता से अच्छे संबंध भी बनाए, जो सबसे बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने शहर की जनता से असली प्रत्याशी और डमी प्रत्याशियों केबीच फर्क पहचाने की सलाह दी। इस मौके पर भाजपा जिलाध्यक्ष प्रेम स्वरूप पाठक, पूर्व विधायक महेश चंद्र गुप्ता, पूर्व विधायक अवनीश कुमार सिंह उर्फ पप्पू भैया, हरीश शाक्य, सुधीर श्रीवास्तव, हरिनारायण सक्सेना और पीडी साहू आदि मौजूद रहे।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us