विज्ञापन

प्रधान के पलायन से सकते में है पुलिस

Badaun Updated Thu, 07 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
बदायूं। थाना मूसाझाग क्षेत्र के तालगांव में प्रधान के अलावा नौ परिवारों पलायन करने के दूसरे दिन बुधवार को जिले की पुलिस सकते में आ गई। मूसाझाग थाने की पुलिस और अन्य उच्चाधिकारियों ने एसपी को भी जानकारी नहीं दी थी। दूसरे दिन अलसुबह काफी संख्या में पुलिस बल गांव में पहुंच गया। इस मामले में एसपी मंजिल सैनी ने कहा कि आरोपियों के खिलाफ गुंडा एक्ट के तहत कार्रवाई होगी। उनकी दो दिन में गिरफ्तारी के निर्देश दे दिए हैं। गांव से परिवारों समेत पलायन करने वाले प्रधान को बुला लिया गया है। सुरक्षा के तौर पर दो पुलिस कर्मी लगा दिए गए हैं। हालांकि परिवार नहीं लौटे हैं उन्हें भी बुलाने की कोशिश चल रही है।
विज्ञापन
विदित हो कि बीती 31 मई को तालगांव के प्रधान इकरार को उनके माता-पिता समेत बीती 31 मई को गांव के कुछ दबंग चुनावी रंजिश के चलते घर से उठाकर ले गए थे। बाद में तीनों को अपने घर में बंधक बनाकर बेरहमी से पीटा भी था। मारपीट में प्रधान का दायां हाथ भी टूट गया था। बाद में उनके घरों में तोड़फोड़ की गई थी। सत्तापक्ष के एक नेता की सरपरस्ती में काफी विलंब के बाद पुलिस ने इस मामले में 13 लोगों के खिलाफ मारपीट और बलवा की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था। इनमें कुछ लोग बदायूं के रहने वाले भी शामिल हैं। मुकदमा दर्ज करने के बाद पुलिस ने सभी को मुचलकों पर रिहा कर दिया। इससे दबंगों के हौंसले और बुलंद हो गए और उन्होंने प्रधान एवं उनके परिवार के लोगों को जान से मारने की धमकियां देना शुरू कर दीं। दबंगों के आतंक और पुलिस की शिथिलता से त्रस्त होकर मंगलवार को प्रधान ने अपने अलावा नौ परिवारों समेत गांव से पलायन कर दिया। इसके बाद पुलिस प्रशासन गंभीर हुआ और एसपी ने सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए।

तीस लोगों पर दो-दो लाख का मुचलका
बुधवार की दोपहर में एएसपी सिटी पियूष श्रीवास्तव ने गांव पहुंचकर प्रधान से पूरे प्रकरण की जानकारी ली। बाद में थाना पुलिस को दबंगों समेत गांव के 30 लोगों को सूचीबद्ध कर उनके खिलाफ दो-दो लाख रुपये मुचलका की कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा प्रधान की सुरक्षा के लिए दो सिपाही गांव में तैनात कर दिए गए हैं।
...और मूसाझाग थाने की पुलिस ने पकड़ी तेजी
प्रधान के गांव से पलायन और डीएम, एसपी द्वारा इस मामले में जांच कराने की जानकारी होते ही अब तक लापरवाह रही मूसाझाग थाने की पुलिस ने बुधवार को रफ्तार पकड़ ली। अमर उजाला ने इस खबर का प्रमुखता से प्रकाशित किया। जानकारी होते ही मूसाझाग के थानाध्यक्ष सिपाहियों समेत अलसुबह तालगांव पहुंच गए। कोशिश करके ग्राम प्रधान इकरार को बुला लिया। इसी बीच गांव में पहुंचे एएसपी सिटी ने प्रधान से पूरे प्रकरण की जानकारी ली। इसके अलावा थाना पुलिस से दबंगों के आपराधिक इतिहास भी पूछे।

ये रहे नामजद दबंग
मूसाझाग थाना पुलिस के मुताबिक जिन लोगों के खिलाफ प्रधान को प्रताड़ित करने के मामले में एफआईआर हुई थी उनमें गांव के नजर, उवैस, जाहिद, मुजीब, सगीर, नाजिम और जीशान के अलावा बदायूं निवासी शानू, मेराज, आरिफ, आसिफ, मुबस्सिर और मुन्ना हैं। सभी के खिलाफ बलवा और मारपीट की धाराओं में मुकदमा दर्ज है।

प्रधान को धमकाने वाले दबंगों के खिलाफ धमकी देने की धाराओं में एक और मुकदमा दर्ज कराया जा रहा है। उनके खिलाफ गुंडा एक्ट की कार्रवाई भी की जाएगी। जब तक सभी नामजदों की गिरफ्तारी नहीं होती, दो सिपाही प्रधान की सुरक्षा में तैनात रहेंगे। दो दिन में नामजदों की गिरफ्तारी न होने पर कोर्ट से उनके गिरफ्तारी वारंट लिए जाएंगे।
मंजिल सैनी, एसपी

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

VIDEO: एशिया की सर्वश्रेष्ठ बावड़ियों में से एक है 'रानी जी की बावड़ी'

किसी भी शहर की पहचान होता है उसका इतिहास और विरासत। राजस्थान का शहर बूंदी जिसमें देश नहीं बल्कि एशिया की सर्वश्रेष्ठ बावड़ी बनी हुई है। इस बावड़ी को राव राजा अनिरूद्व सिंह की रानी नाथावती ने बनवाया था। आप भी देखिए इस बावड़ी की खूबसूरती।

21 नवंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree