बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

पांच महीने बाद मायके पहुंची लापता विवाहिता

Badaun Updated Mon, 04 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

बदायूं। बरेली के थाना फरीदपुर क्षेत्र के गांव परदतपुर निवासी हसमूद ने अपनी पुत्री मल्लिका का विवाह दो साल पूर्व कोतवाली बिसौली क्षेत्र के गांव मौजमपुर निवासी इस्लाम के साथ किया था। बीती 22 दिसंबर को मल्लिका संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गई थी। इस मामले में ससुराल केलोगों ने उसकी कोतवाली बिसौली में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। मायका पक्ष का आरोप था कि ससुरालियों ने अतिरिक्त दहेज न मिलने के कारण मल्लिका का अपहरण कर लिया है। इस मामले में मल्लिका के भाई हनीफ की तहरीर पर बीती 27 दिसंबर 2011 को पुलिस ने पति समेत सात लोगों के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया था। इस मामले में नामजद इस्लाम, उसके पिता माले खां और मां हसीना बेगम जेल में बंद हैं। रविवार की सुबह मल्लिका संदिग्ध परिस्थितियों में मायके पहुंच गई। घर में घुसने के बाद वह बेहोश हो गई। परिवार के लोग उसे बदायूं लेकर आए, यहां पुलिस ने उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। देर शाम तक होश न आने की वजह से वह बयान नहीं दे पा रही है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us