विज्ञापन

आचार संहिता में फंसे तबादले

Badaun Updated Tue, 29 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
डेढ़ सौ दरोगा और सिपाहियों की आमद पर भी लगा ब्रेक
विज्ञापन
बदायूं। निकाय चुनाव की आचार संहिता 26 मई से घोषित होने के साथ ही बदायूं से गृहजनपद जाने की तैयारी में लगे यहां तैनात 123 दरोगा और सिपाहियों के अरमान ठंडे पड़ गए हैं। आचार संहिता केचलते पुलिसकर्मियों की रवानगी रोक दी गई है। ये पुलिसकर्मी अब चुनाव के बाद जुलाई में गृहजनपद जा सकेंगे। वहीं जिले से बड़ी संख्या में फोर्स जाने के स्थान पर आधी पुलिस मिली है। पुलिस की भरपाई भी चुनाव के बाद हो पाएगी।
सत्ता परिवर्तन के साथ नई सरकार ने पुलिस की तबादला नीति में फेरबदल कर दिया है। इसके तहत दरोगा और सिपाही अपने गृहजनपद से सटे जिलों में तैनाती ले सकेंगे। इस नीति के बाद जिले के दरोगाओं और सिपाहियों ने अधिकारियों को पत्र देकर तबादले की मांग की थी। पिछले दिनों हेड क्वार्टर से जारी सूची के अनुसार जिले के विभिन्न थानों में तैनात लगभग 423 दरोगा और सिपाहियों के तबादलेकी घोषणा हो गई थी। लगभग तीन सौ दरोगा और सिपाहियों ने बीती 25 मई तक यहां से रवानगी भी ले ली थी, जबकि शेष पुलिसकर्मी यहां से ट्रांसफर की तैयारी में जुट गए थे। कई पुलिसकर्मी ऐसे भी हैं, जो अपने परिवार को तैनाती वाले जिलों में शिफ्ट कर दिए और यहां से रवानगी का इंतजार कर रहे थे।
26 मई को निकाय चुनाव की आचार संहिता लगने के साथ ही पुलिसकर्मियों के तबादलों पर भी रोक लग गई है। ऐसे में महकमे के लगभग 123 पुलिसकर्मी अब चुनाव के बाद यहां से जा सकेंगे। चूंकि यहां से तीन सौ पुलिसकर्मियों केकार्यमुक्त होने के साथ ही विभिन्न जिलों से आए लगभग डेढ़ सौ पुलिसकर्मी मिले हैं। पुलिसकर्मियों की यह कमी भी चुनाव में अधिकारियों को खलेगी। एसपी रतन श्रीवास्तव ने बताया कि चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से कराने के लिए जिले में पर्याप्त पुलिस बल मौजूद है।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

VIDEO: फिर फिसली बीजेपी सांसद बाबुल सुप्रियो की जुबान, दिव्यांगों के कार्यक्रम में दी ये धमकी

बीजेपी नेता और पश्चिम बंगाल के आसनसोल से बीजेपी सांसद बाबुल सुप्रियो का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

19 सितंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree