विज्ञापन

प्यास से जानवरों की मौत पर चिंतित

Badaun Updated Mon, 28 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
मेनका गांधी का कमिश्नर को पत्र, सूखे तालाबों में सांसद निधि से पानी भरवाने का प्रस्ताव
विज्ञापन
बदायूं। आंवला की सांसद मेनका गांधी ने बरेली मंडल के आयुक्त को लिखे पत्र में संसदीय क्षेत्रों के तालाबों में सांसद निधि से पानी भरवाने का प्रस्ताव दिया है। उन्होंने कहा है कि यदि सांसद निधि के लिए कोई गाइड लाइन हो तो वह तालाबों में पानी भरवाने के लिए धन देने को तैयार हैं। पिछले दिनों प्यास से हुई जानवरों की मौत को लेकर उन्होंने चिंता जताई है।
श्रीमती गांधी के संसदीय क्षेत्र के प्रवक्ता सतीश यादव ने बताया कि कमिशभनर के राममोहन राव को मेनका गांधी का पत्र 24 मई को प्राप्त हो गया। इसमें उन्होंने कहा है कि उनके संसदीय क्षेत्र आंवला एवं बदायूं के दातागंज, शेखूपुर के सभी ताल एवं तालाब इस भीषण गर्मी में सूखे पड़े हैं। इसके चलते सैकड़ों जंगली जानवर और परिंदे प्यास से मर रहे हैं। फरीदपुर में पिछले हफ्ते दो दर्जन से अधिक जंगली गायों और साड़ों की मौत पानी न मिलने से हुई है। इसकी पुष्टि मरे जानवरों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से हुई है। दो दिन प्यासे जानवर कहीं पानी मिलने पर क्षमता से अधिक पानी पी लेते हैं तो आंत भी फट जाती है। रिपोर्ट में कुछ जानवरों की मौत का कारण यह भी बना है।
मेनका गांधी ने कहा एक तरफ मनरेगा का करोड़ों रुपये खर्च कर तालाब बनाए गए हैं, लेकिन इन तालाबों में पानी भरने की व्यवस्था नहीं है। यह हैरत और शर्मनाक बात है। इसे प्रशासन की संवेदनहीनता और अकर्मण्यता भी कहा जा सकता है। क्योंकि बेजुबानों की मौत पर वह सचेत नहीं हो रहे हैं। उन्होंने आयुक्त को लिखे पत्र में आग्रह किया है कि यदि सांसद निधि से पानी तालाबों में भरवाने का कोई गाइड लाइन हो तो उन्हें इसके लिए धन देने से कोई एतराज नहीं है।
000000
पीएफए ने भराए दर्जनों तालाब
पीपुल फॉर एनीमल (पीएफए) के क्षेत्रीय सचिव सतीश यादव ने बताया कि मेनका गांधी के निर्देश पर ग्रामीणों की सहयोग से पीएफए ने फरीदपुर और आंवला में एक-एक दर्जन एवं बिथरी के सात गांवों के तालाबों में पानी भरवाया है।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

एशिया कप 'सुपर संडे' में भारत-पाक की भिड़ंत समेत इन खबरों पर रहेगी हमारी नजर

राफेल डील पर आगे क्या होगा बवाल, एशिया कप में भारत-पाक के बीच भिड़ंत समेत इन बड़ी खबरों पर रहेगी हमारी नजर

22 सितंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree