Hindi News ›   ›   चोरी के समय ही बंद मिलते हैं बैंकों के सीसीटीवी कैमरे

चोरी के समय ही बंद मिलते हैं बैंकों के सीसीटीवी कैमरे

Badaun Updated Sat, 26 May 2012 12:00 PM IST
बदायूं। बीते दो महीने से बदमाशों ने बैंकों को निशाना बनाना शुरू कर दिया है। कहीं पर बदमाश बैंकों में लूटपाट कर रहे हैं तो कहीं चोरी की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। खास बात यह है कि वारदात के समय बैंक या एटीएम केबिन में लगे सीसीटीवी कैमरे बंद होते हैं। ऐसे में पुलिस को घटना के सबूत नहीं मिल पाते, जबकि बदमाश साफ बच जाते हैं। हालांकि बैंक अधिकारियों का कहना है कि इन घटनाओं के बाद सभी बैंकों को दिन और रात हर समय कैमरे खुले रखने के निर्देश दिए गए हैं।
विज्ञापन

बीती 13 अप्रैल को तीन बाइकों पर सवार नौ बदमाशों ने थाना मुजरिया क्षेत्र के गांव कौल्हाई स्थित सर्वयूपी ग्रामीण बैंक से दिनदहाड़े 2.86 लाख रुपये की लूटपाट की थी। इस बैंक में सीसीटीवी कैमरों का अभाव था।

इसके बाद बदमाशों ने 21 मई की रात को पंजाब नेशनल बैंक की कछला शाखा की एटीएम मशीन काटकर उसमें रखे 5.30 लाख रुपये पार कर दिए थे। एटीएम मशीन जिस कमरे में रखी थी उसमें कैमरे नहीं थे, वहीं मशीन में लगा कैमरा भी काम नहीं कर रहा था। नतीजतन बरेली से आए इंजीनियर ने कैमरे में बदमाशों की रिकार्डिंग देखने का काफी प्रयास किया लेकिन कोई परिणाम सामने नहीं आया। ऐसे में पुलिस की तीन टीमें अभी भी अपने स्तर से बदमाशों की तलाश करने का प्रयास कर रही हैं।
इसके अगले दिन 22 मई की रात को बदमाशों ने थाना फैजगंज बेहटा क्षेत्र के कस्बा ओरछी की पीएनबी शाखा पर धावा बोलकर वहां रखी तिजोरी काटने का प्रयास किया, सफलता न मिलने पर बदमाश वहां रखा इंवर्टर और स्टेबलाइजर लेकर भाग निकले। इससे पहले बदमाशों ने बैंक में लगे दो सीसीटीवी कैमरे भी तोड़ दिए। दूसरे दिन मौके पर पहुंची पुलिस ने जब कैमरों की रिकार्डिंग देखने का प्रयास किया तो पता लगा कि कर्मचारी बैंक बंद करने के साथ ही कैमरे भी बंद कर गए थे। इन सभी घटनाओं में कैमरे बंद होने या खराब होने की समानता मिलने से पुलिस बदमाशों के अलावा अन्य दिशाओं में भी जांच कर रही है।
24 घंटे चालू रहेंगे कैमरे
सभी बैंकों को 24 घंटे कैमरे चालू रखने के निर्देश दिए गए हैं। बिजली न होने पर उन्हें इनवर्टर से चलाने को भी कहा है। कुछ कैमरे अंधेरे में रिकार्डिंग नहीं कर पाते हैं, ऐसे में उनके स्थान पर नाइट मूड वाले कैमरे मंगवाए हैं।
डीके शर्मा, लीड बैंक मैनेजर



सुरक्षा की दृष्टि से कैमरे जरूरी
बैंकों की रुटीन चेकिंग के अलावा अपने स्तर से भी सुरक्षा व्यवस्था का जायजा ले रहे हैं लेकिन सीसीटीवी कैमरे होना जरूरी है, ताकि बदमाशों को आसानी से पहचान कर उनकी गिरफ्तारी की जा सके। बैंक प्रबंधकों की बैठक लेकर उन्हें यह सुझाव भी दिया गया था। एटीएम मशीन से चोरी की घटना का पर्दाफाश करने का प्रयास चल रहा है।
रतन श्रीवास्तव, एसपी

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00