विज्ञापन

24 घंटे बीते, नहीं निकला धर्मेंद्र, ग्रामीणों ने लगाया जाम

Badaun Updated Fri, 25 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
उसावां (बदायूं)। बुधवार को कुएं की ढांग में दबा युवक दूसरे दिन बृहस्पतिवार को दूसरे दिन भी बाहर नहीं निकाला जा सका है। इससे आक्रोशित परिवार के लोगों ने ग्रामीणों की मदद से बृहस्पतिवार की सुबह लगभग नौ बजे बदायूं-फर्रुखाबाद मार्ग पर जाम लगा दिया। दो घंटे जाम के बाद एसडीएम दातागंज राजेंद्र कश्यप ने ग्रामीणों को समझा-बुझाकर बमुश्किल जाम खुलवाया। बाद में चार जेसीबी मशीनें मंगवाकर खुदाई शुरू कर दी। शाम को प्रशासन ने दो और मशीनें खुदाई में लगवा दी हैं। देर रात तक युवक को निकाला नहीं जा सका था।
विज्ञापन
विदित हो कि थाना क्षेत्र के गांव पंचमनगला निवासी बालट्टर का 24 वर्षीय पुत्र धर्मेंद्र बुधवार को पंपिंग सेट में हो रही लीकेज संभालने के लिए अपने कुएं में उतरा था। इस दौरान ढांग गिरने से वह मिट्टी में दब गया था। दोपहर बाद प्रशासन ने जेसीबी मशीन भेजकर खुदाई शुरू करवा दी लेकिन रात तक कई बार जेसीबी में डीजल खत्म होने से खुदाई में व्यवधान आया। ऐसे में रात भर की कोशिश केबाद भी धर्मेंद्र को नहीं निकाला जा सका।
इससे आक्रोशित परिवार के लोगों ने बृहस्पतिवार को कस्बा के मुख्य चौराहे पर बदायूं-फर्रुखाबाद मार्ग जाम लगा दिया। परिवार के लोगों का कहना था कि प्रशासन शिथिलता बरत रहा है। जबकि धर्मेंद्र की जान पर बनी है। परिवार के लोगों ने और मशीनें मंगवाने की मांग की। इस पर एसडीएम ने ग्रामीणों को काफी समझाने का प्रयास किया साथ ही जल्द ही मशीनों की व्यवस्था का आश्वासन दिया लेकिन ग्रामीण अपनी बात पर अड़ रहे। इस दौरान पूर्व विधायक प्रेमपाल सिंह यादव ने भी ग्रामीणों को समझाया।
दोपहर को प्रशासन ने चार जेसीबी मशीनें मंगवाकर खुदाई शुरू करवा दी। जबकि शाम को दो और मशीनें लगाई गई हैं। एसडीएम ने बताया कि जितनी मिट्टा हटाई जा रही है, उतनी ही कुएं में गिर जाती है। इसलिए अब नाली बनाकर मिट्टी हटाने का प्रयास कर रहे हैं।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

बताना तो पड़ेगा : सिवनी मालवा की जनता ने अपने जनप्रतिनिधियों से पूछे ये सवाल

अमर उजाला का चुनावी रथ पहुंचा मध्य प्रदेश के सिवनी मालवा, जहां अमर उजाला की टीम ने जानी जनता की समस्याएं। इस दौरान वहां के लोगों ने पूछे अपने जनप्रतिनिधियों से सवाल।

19 नवंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree