लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   ›   बगैर लाइसेंस के फुटपाथ पर चल रही ट्रांसपोर्ट एजेंसियां

बगैर लाइसेंस के फुटपाथ पर चल रही ट्रांसपोर्ट एजेंसियां

Badaun Updated Fri, 25 May 2012 12:00 PM IST
बदायूं। अगर आप किसी ट्रांसपोर्ट एजेंसी तो माल बुक रहा रहे हैं...तो जरा होशियार हो जाए। हो सकता है कोई फर्जी ट्रांसपोर्ट कंपनी आपका कीमती सामान लेकर रफूचक्कर हो जाए। जिले में बड़ी तादाद में फुटपाथ पर चल रही ट्रांसपोर्ट एजेंसियां बगैर लाइसेंस के ही चल रही हैं। ऐसे में उनके भाग जाने की स्थित में माल बुक कराने वाला कोई दावा भी नहीं कर सकता।

शहर के लावेला चौक, कचहरी रोड सहित कई जगहों पर ट्रांसपोर्ट एजेंसियां फुटपाथ पर चल रही हैं। इनके दफ्तर गुमटी व खोखों में चल रहे हैं। खुद ही बिल्टी बुक छपवाई और इधर-उधर से वाहनों के इंतजाम किए। बाहर किसी नाम से ट्रांसपोर्ट एजेंसी का बोर्ड लगवाया और बन गए ट्रांसपोर्ट एजेंसी के संचालक। ये ट्रांसपोर्ट कंपनियां आसपास जिले में ही नहीं, बल्कि दूसरे प्रदेशों में भी माल बुकिंग बेधड़क करते हैं। जबकि ट्रांसपोर्ट एजेंसियों के पास लाइसेंस न होने के कारण वे बुक कराया गया माल लेकर कब गायब हो जाए, इसका डर हमेशा बना रहता है।


आज तक नहीं हुई ट्रांसपोर्ट एजेंसियों पर कार्रवाई
संभागीय परिवहन विभाग ने अवैध तौर से चल रही इन ट्रांसपोर्ट एजेंसियों पर अंकुश लगाने को आज तक कोई सख्त कार्रवाई भी नहीं की है, जिसका नतीजा यह रहा कि फुटपाथ पर चलने वाले ट्रांसपोर्ट एजेंसियों संख्या लगातार कम होती जा रही हैं। एक अनुमान है कि जिलेभर में करीब 60-70 अवैध ट्रांसपोर्ट एजेंसियां चल रही है।

ये हैं ट्रांसपोर्ट एजेंसी संचालन के नियम :
ट्रांसपोर्ट एजेंसी का चलाने के लिए पहले संभागीय परिवहन विभाग (आरटीओ) दफ्तर से औपचारिकताएं पूरी करते हुए लाइसेंस लेना होता है। इसके एवज में उन्हें निर्धारित शुल्क जमा करना होता है। लाइसेंस लेने वालों के लिए उन्हें जगह और वाहनों की स्थिति का ब्योरा देना होता है। उसके बाद ही उन्हें ट्रांसपोर्ट एजेंसी संचालन के लिए लाइसेंस जारी किया जाता है।

बगैर लाइसेंस के ट्रांसपोर्ट एजेंसियों का संचालन अगर हो रहा है तो यह अवैध है। हालांकि अभी प्रदेशभर में लाइसेंस की प्रक्रिया बंद हैं, लेकिन जो लोग ये एजेंसियां चला रहे हैं, उनके लिए लाइसेंस लेना जरूरी है।
रामबिहारी गुप्ता, एआरटीओ प्रशासन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00