234 पुलिसकर्मियों का होगा तबादला, 139 मिलेंगे

Badaun Updated Thu, 24 May 2012 12:00 PM IST
बदायूं। पुलिस की नई तबादला नीति के अनुसार जिले के दरोगाओं और सिपाहियों के तबादले की पहली सूची जारी हो चुकी है। पहली सूची के अनुसार जिले से 234 दरोगा और सिपाही अपने गृहजनपद की सीमाओं से सटे जिलों को जाएंगे, इनके स्थान पर फिलहाल बदायूं की सीमा से सटे जिलों में रहने वाले 139 दरोगा और सिपाहियों की तैनाती होगी। पुलिस मुख्यालय से पहली सूची जारी होने के बाद एसपी रतन श्रीवास्तव ने बदायूं में तैनात पुलिसकर्मियों को कार्यमुक्त करने की कार्रवाई शुरू कर दी है।
पुरानी बसपा सरकार ने यह नियम लागू किया था कि दरोगा और सिपाही अपने गृहजनपद से सटे जिलों में तैनाती नहीं ले सकेंगे। इसके तहत पिछले साल जिले में तैनात लगभग साढ़ छह सौ पुलिसकर्मियों को तबादले की मार झेलनी पड़ थी। इनके स्थान पर जिले को काफी समय बाद निर्धारित फोर्स मिला था लेकिन सत्ता परिवर्तन के साथ ही सपा सरकार ने तबादले की नई नीति लागू कर दी, इसके तहत अब सिपाही और दरोगा अपने गृहजनपद से सटे जिलों में तैनाती ले सकेंगे।
कई चौकियों में लटके थे ताले
बदायूं जिला नौ जिलों भीमनगर, मुरादाबाद, काशीरामनगर, रामपुर, शाहजहांपुर, बरेली और फर्रुखाबाद आदि की सीमा का केंद्र है। ऐसे में बसपा सरकार की इस नीति से यह जिला काफी प्रभावित हुआ था। भारी मात्रा में पुलिस जाने के बाद जिले की कई पुलिस चौकियों में ताले लटकने की नौबत आ गई थी।
बना हुआ था मानसिक दबाव
इस तबादला नीति से पुलिसकर्मी अपने परिवार से दूर होकर काम कर रहे थे, ऐसे में उन पर परिवार से दूर रहने का मानसिक दबाव भी बना हुआ था। जहां पुलिसकर्मी एक दिन की छुट्टी लेकर अपने परिवार से मिल लेते थे, इस नीति से उन्हें घर जाने के लिए कम से कम तीन दिन की छुट्टी लेना पड़ती थी। हालांकि नई तबादला नीति से पुलिसकर्मियों का यह मानसिक दबाव खत्म हो गया है।
पहले तबादले की फिर रुकवाने की अर्जी
जिले में कुछ सिपाही ऐसे भी हैं, जिन्होंने नई तबादला नीति के बाद अपने गृहजनपद की सीमा से सटे जिलों में तैनाती की अर्जी दी थी, लेकिन वर्तमान में इन सिहापियों ने पुन: अपना तबादला रुकवाने की अर्जी दी है। जिले में ऐसे सिपाहियों की संख्या लगभग 15 है।

पहली सूची आ चुकी है। इसके तहत जिले को फिलहाल कम पुलिसकर्मी मिलेंगे लेकिन अगली सूची में पुलिस की कमी की भरपाई हो जाएगी। दरोगाओं और सिपाहियों को कार्यमुक्त करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।
पियूष श्रीवास्तव, एएसपी सिटी

Spotlight

Related Videos

डीजल चोरी के आरोप में तीन लोगों को बेरहमी से पीटा

मध्यप्रदेश के जबलपुर से एक दिल दहला देने वाला वीडियो सामने आया है। इस वीडियो में एक व्यक्ति ने तीन दलित लोगों की डीजल चोरी के आरोप में बेरहमी से पिटाई कर दी।

17 जुलाई 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen