दो दिन में नहीं पकड़ा तो आमरण अनशन

Badaun Updated Mon, 21 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

बदायूं। व्यापारी नेता मनोज कृष्ण गुप्ता पर शनिवार की रात जान से मारने की नीयत से फायरिंग करने के वाले युवक की गिरफ्तारी की मांग को लेकर दूसरे दिन रविवार को तमाम व्यापारी और समाजसेवियों ने मालवीय आवास गृह पर प्रदर्शन कर एक दिन का उपवास रखा। इसके बाद व्यापारियों ने सिटी मजिस्ट्रेट जमीन आलम को ज्ञापन सौंपकर नामजद की गिरफ्तारी की मांग की। व्यापारियों ने पुलिस प्रशासन को दो दिन का अल्टीमेटम दिया है। दो दिन में नामजद की गिरफ्तारी न होने पर आमरण अनशन शुरू हो जाएगा। व्यापारियों ने मुख्यमंत्री को भी शिकायती पत्र भेजकर इस प्रकरण से अवगत कराया है।
विज्ञापन

धरनास्थल पर हिंदू क्रांतिदल के प्रदेशाध्यक्ष मुकेश पटेल ने कहा कि नामजद फैसल एक सपा विधायक के चहेते ठेकेदार कौसर का पुत्र है। शनिवार की रात फैसल ने जिस तरह से शहर में दहशत फैलाई है, इससे आम आदमी खौफजदा है। अखिलेश साहू ने कहा कि पुलिस प्रशासन की निष्क्रियता के चलते विधायक के गुर्गे शहर में दहशत फैला रहे हैं। कहा कि अब या तो विधायक के समर्थक शहर में रहेंगे या फिर आम आदमी। राजेंद्र गुप्ता ने कहा कि मंडी समिति परिसर केपास हेल्पर की दिनदहाड़े हत्या करवाने के बाद भी सिलसिला रुका नहीं है। इसलिए दो दिन में आरोपी की गिरफ्तारी न होने पर इन दहशतगर्दों के खिलाफ मालवीय आवास गृह पर अनशन शुरू कर दिया जाएगा। इस मौके पर सुमित सक्सेना, धर्मेंद्र सिंह पटेल, मनोज साहू, गोपाल सागर, सुरजीत राठौर, परमेश्वरी, योगेंद्रपाल, हरिओम सागर, राजेंद्र सागर, रामदुलारे सिंह, मुकेश गुप्ता और हरीश गुप्ता आदि मौजूद रहे।
भाजपाइयों ने भी उठाई गिरफ्तारी की मांग
बदायूं। शहर के मोहल्ला वेदोटाला के निवासी पवन शर्मा के खिलाफ दूसरे समुदाय के लोगों द्वारा मुकदमा दर्ज कराने केबाद रविवार को भाजपा जिलाध्यक्ष प्रेम स्वरूप पाठक और पूर्व विधायक महेश चंद्र गुप्ता के नेतृत्व में भाजपा का एक प्रतिनधि मंडल एसपी से मिला। यहां भाजपाइयों ने पवन शर्मा पर दर्ज हुए मुकदमे की वापस लेने और राष्ट्रवादी उद्योग व्यापार मंडल के प्रदेशाध्यक्ष मनोज कृष्ण गुप्ता पर जानलेवा हमला करने वाले युवक की गिरफ्तारी की मांग की। इसके अलावा भाजपाइयों ने मंडी समिति के पास दिनदहाड़े हुई हेल्पर की हत्या के मामले में नामजदों की गिरफ्तारी की भी मांग की। प्रतिनिधि मंडल में हरीश शाक्य, अशोक गुप्ता, ओमप्रकाश मथुरिया, एडवोकेट स्वतंत्र प्रकाश गुप्ता, राजीव कुमार सिंह गौर, सुधीर श्रीवास्तव, अंकित मौर्य, मुकेश मैथिल और परमेश्वरी दयाल साहू आदि शामिल रहे। इसके अलावा हेल्पर हत्याकांड में वादी बने ट्रक मालिक केभाई अवनीश ने भी तीन दिन के भीतर नामजदों की गिरफ्तारी करने की चेतावनी दी है। यदि पुलिस ने समय रहते नामजदों को नहीं पकड़ा तो चौथे दिन से आंदोलन शुरू हो जाएगा।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us