दो दिन में नहीं पकड़ा तो आमरण अनशन

Badaun Updated Mon, 21 May 2012 12:00 PM IST
बदायूं। व्यापारी नेता मनोज कृष्ण गुप्ता पर शनिवार की रात जान से मारने की नीयत से फायरिंग करने के वाले युवक की गिरफ्तारी की मांग को लेकर दूसरे दिन रविवार को तमाम व्यापारी और समाजसेवियों ने मालवीय आवास गृह पर प्रदर्शन कर एक दिन का उपवास रखा। इसके बाद व्यापारियों ने सिटी मजिस्ट्रेट जमीन आलम को ज्ञापन सौंपकर नामजद की गिरफ्तारी की मांग की। व्यापारियों ने पुलिस प्रशासन को दो दिन का अल्टीमेटम दिया है। दो दिन में नामजद की गिरफ्तारी न होने पर आमरण अनशन शुरू हो जाएगा। व्यापारियों ने मुख्यमंत्री को भी शिकायती पत्र भेजकर इस प्रकरण से अवगत कराया है।
धरनास्थल पर हिंदू क्रांतिदल के प्रदेशाध्यक्ष मुकेश पटेल ने कहा कि नामजद फैसल एक सपा विधायक के चहेते ठेकेदार कौसर का पुत्र है। शनिवार की रात फैसल ने जिस तरह से शहर में दहशत फैलाई है, इससे आम आदमी खौफजदा है। अखिलेश साहू ने कहा कि पुलिस प्रशासन की निष्क्रियता के चलते विधायक के गुर्गे शहर में दहशत फैला रहे हैं। कहा कि अब या तो विधायक के समर्थक शहर में रहेंगे या फिर आम आदमी। राजेंद्र गुप्ता ने कहा कि मंडी समिति परिसर केपास हेल्पर की दिनदहाड़े हत्या करवाने के बाद भी सिलसिला रुका नहीं है। इसलिए दो दिन में आरोपी की गिरफ्तारी न होने पर इन दहशतगर्दों के खिलाफ मालवीय आवास गृह पर अनशन शुरू कर दिया जाएगा। इस मौके पर सुमित सक्सेना, धर्मेंद्र सिंह पटेल, मनोज साहू, गोपाल सागर, सुरजीत राठौर, परमेश्वरी, योगेंद्रपाल, हरिओम सागर, राजेंद्र सागर, रामदुलारे सिंह, मुकेश गुप्ता और हरीश गुप्ता आदि मौजूद रहे।

भाजपाइयों ने भी उठाई गिरफ्तारी की मांग
बदायूं। शहर के मोहल्ला वेदोटाला के निवासी पवन शर्मा के खिलाफ दूसरे समुदाय के लोगों द्वारा मुकदमा दर्ज कराने केबाद रविवार को भाजपा जिलाध्यक्ष प्रेम स्वरूप पाठक और पूर्व विधायक महेश चंद्र गुप्ता के नेतृत्व में भाजपा का एक प्रतिनधि मंडल एसपी से मिला। यहां भाजपाइयों ने पवन शर्मा पर दर्ज हुए मुकदमे की वापस लेने और राष्ट्रवादी उद्योग व्यापार मंडल के प्रदेशाध्यक्ष मनोज कृष्ण गुप्ता पर जानलेवा हमला करने वाले युवक की गिरफ्तारी की मांग की। इसके अलावा भाजपाइयों ने मंडी समिति के पास दिनदहाड़े हुई हेल्पर की हत्या के मामले में नामजदों की गिरफ्तारी की भी मांग की। प्रतिनिधि मंडल में हरीश शाक्य, अशोक गुप्ता, ओमप्रकाश मथुरिया, एडवोकेट स्वतंत्र प्रकाश गुप्ता, राजीव कुमार सिंह गौर, सुधीर श्रीवास्तव, अंकित मौर्य, मुकेश मैथिल और परमेश्वरी दयाल साहू आदि शामिल रहे। इसके अलावा हेल्पर हत्याकांड में वादी बने ट्रक मालिक केभाई अवनीश ने भी तीन दिन के भीतर नामजदों की गिरफ्तारी करने की चेतावनी दी है। यदि पुलिस ने समय रहते नामजदों को नहीं पकड़ा तो चौथे दिन से आंदोलन शुरू हो जाएगा।

Spotlight

Related Videos

अविश्वास प्रस्ताव से बीजेपी को कितना खतरा? समझिए, आंकड़ों के जरिए

जब सत्ता, सियासत और साम्राज्य के मायने सिकुड़कर चंद मुद्दों में सिमट जाएं तो समझ जाइए देश में चुनाव होने वाले हैं और चुनावों से पहले थोड़ा ड्रामा होना लाजमी होता है।

19 जुलाई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen