विज्ञापन

लूटपाट के आरोपियों का शांतिभंग में चालान, जांच शुरू

Badaun Updated Sun, 20 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
बदायूं। जिले के सभी थानों की पुलिस लूटपाट जैसी घटनाओं का वर्क आउट करके अधिकारियों की शाबाशी लेने को आतुर रहती है लेकिन थाना कादरचौक पुलिस इसमें अपवाद साबित हो रही है। लूटपाट कर रहे बदमाशों के थाने आने के बाद भी पुलिस ने घटना का मुकदमा दर्ज कर पर्दाफाश करने की जगह लुटेरों को संरक्षण दे दिया। इसके तहत पुलिस ने लुटेरों का शांतिभंग की धाराओं में चालान कर दिया। इतना ही नहीं लूटपाट का पूरा मामला भी पुलिस डकार गई। कादरचौक पुलिस की यह हरकत संज्ञान में आने पर महकमे के अधिकारी भी हैरत में हैं। शुक्रवार को शिकायत मिलने पर इस मामले की जांच भी शुरू हो गई है।
विज्ञापन
विदित हो कि थाना कादरचौक क्षेत्र के गांव गंगीनगला निवासी अशोक अपने दोस्त जगवीर निवासी गांव धोकननगला के साथ बाइक से गांव कादरबाड़ी से कादरचौक की ओर जा रहे थे। थाने से चंद कदम की दूरी पर घात लगाए बैठे हथियारबंद लगभग 10 बदमाशों ने असलहों के बल पर बाइक रुकवा ली और अशोक से 12 हजार छह सौ व जगवीर से 21 सौ रुपये लूट लिए।
इस घटना से कुछ देर पहले बदमाशों ने गांव जोरीनगला निवासी नेत्रपाल और संतोष से भी मोबाइल और हजारों की नकदी लूटकर दोनों को बांधकर डाल दिया था। अशोक से हो रही लूटपाट के दौरान कुछ लोग जीप से वहां पहुंच गए। जीप की रोशनी में अशोक और जगवीर ने तीन बदमाशों को पहचान लिया था। जीप सवार लोगों की मदद से दो बदमाश पकड़कर पुलिस को भी सौंपे गए।
ग्रामीणों के जाने के बाद पुलिस ने अपना खेल शुरू किया और बदमाशों को संरक्षण देते हुए उनका शांतिभंग की धाराओं में चालान कर दिया। शनिवार को भुक्तभोगी ग्रामीणों ने कांग्रेस जिलाध्यक्ष ओमकार सिंह के नेतृत्व में मुख्यालय पहुंचकर एसपी सिटी पियूष श्रीवास्तव को पूरा मामला बताया। एसपी सिटी ने इस मामले की जांच सीओ उझानी को सौंपते हुए ग्रामीणों को कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

पुलिस के खिलाफ करेंगे आंदोलन : ओमकार
कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने बताया कि कादरचौक पुलिस लुटेरों को संरक्षण देकर इलाके में चोरी, राहजनी और लूटपाट की घटनाएं करवा रही है। पुलिस के इस जंगलराज पर चेतावनी दी कि यदि समय रहते थाना पुलिस ने अपनी कार्यप्रणाली में सुधार नहीं लाया तो कांग्रेस एसओ के खिलाफ आंदोलन करेगी।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

जान जोखिम में डालकर स्कूल जा रहा है देश का भविष्य, सो रहा है सिस्टम

हिमाचल प्रदेश के पंचकुला में बाढ़ की वजह से नदियां उफान पर हैं। और नदियों के उफान के बीच कोटि गांव के स्कूल के छात्र अपनी जान जोखिम में डालकर नदी को स्कूल जाने के लिए पार कर रहे हैं। क्योंकि उनके पास कोई और रास्ता नहीं है

25 सितंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree