चकमा देकर भागे बदमाश पुलिस की पकड़ से बाहर

Badaun Updated Wed, 16 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

दातागंज। मूसाझाग पुलिस द्वारा चार तमंचों समेत पकड़े गए बाइक सवार बदमाश का मामला भी नहीं खुला है। पुलिस इस बदमाश का ताल्लुक किसी बड़े अपराधी गिरोह से बता रही है, लेकिन वह गिरोह कौनसा है इसका पर्दाफाश नहीं किया है। इसी बदमाश के दो अन्य साथी जो पुलिस को चकमा देकर भाग गए थे उन्हें भी पुलिस नहीं पकड़ पाई है।
विज्ञापन

बृहस्पतिवार को समरेर बाजार में दिनदहाड़े गल्ला व्यापारी से हुई लूट के बाद एसपी के निर्देश पर सभी थानों की पुलिस ने सघन चेकिंग अभियान चलाया था। इसी क्रम में बदायूं मार्ग पर मूसाझाग पुलिस ने एक बाइक पर सवार तीन लोगों को रोका तो यह देखकर ही बाइक छोड़कर भाग गए। एक बदमाश को पुलिस ने दबोच लिया। तलाशी लेने पर बाइक की डिग्गी में चार तमंचे भी मिले। हालांकि उस दिन तीन ही तमंचे बताए गए थे। पकड़ा गया बदमाश चित्रपाल कैमुआ गौंटिया गांव का रहने वाला है। बताया जाता है कि इस गांव से अपराधी निकलते हैं। पुलिस की दुराचारी लिस्ट में इस गांव के कई नाम दर्ज हैं। पुलिस की गिरफ्त से छूटकर भागे दोनों लोगों को भी पुलिस नहीं पकड़ पाई है। यह दोनों मूसाझाग के ही गांव कादराबाद के हैं। इन बदमाशों का संबंध किस गिरोह से है और असलहे लेकर जाने के पीछे क्या मंशा थी और कहीं व्यापारी लूटकांड से तो तार नहीं जुड़े हैं। इन सवालों का जवाब पुलिस नहीं खोेज पाई है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us