अब एसडीओ और जेई से की हाथापाई

Badaun Updated Wed, 16 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

उझानी(बदायूं)। इलाके में बिजली कटौती को लेकर गुस्से में दिख रहे उपभोक्ताओं ने एक बार फिर उपकेंद्र को निशाना बनाया। इस बार जो लोग पहुंचे, उनमें अधिकतर गांव निजामपुर के हैं। ग्रामीणों ने एसडीओ, दोनों जेई समेत मौजूद कर्मियों को घेर कर उनके साथ हाथापाई की। इससे कैंपस में भगदड़ मच गई।
विज्ञापन

यह मामला मंगलवार दोपहर का है। बिजली उपकेंद्र पर पहुंचे निजामपुर समेत आसपास गांव के लोगों ने देखते ही एसडीओ अनुराग वर्मा, जेई मोहम्मद शफीक अहमद और अजय प्रताप सिंह समेत पांच कर्मियों को घेर लिया। बकौल एसडीओ-ग्रामीण कुछ बताने की बजाय गालीगलौज करने लगे। जबकि हंगामा कर रहे ग्रामीणों का कहना है कि बिजली कर्मियों ने कटौती से निजात दिलाने की बजाय घर लौट जाने को धमकाया। बताते हैं कि एसडीओ पुलिस बुलाने के लिए सेलफोन जेब से निकाला तो उनका मोबाइल छीन लिया गया। बिजली कर्मियों और ग्रामीण उपभोक्ताओं में नोकझोंक भी हुई।
बिजली कर्मियों ने बताया कि ग्रामीणों ने एसडीओ, दोनों जेई समेत पांच कर्मचारियों से हाथापाई की। यह देख आवासों से कर्मचारियों की परिवार की महिलाएं भी बाहर निकल आईं। बाद में पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस को देख कई ग्रामीण भाग निकले। तीन लोगों को पुलिस ने दबोच लिया। कोतवाल एके सिंह ने बताया कि आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। मालूम हो कि बिजली उपकेंद्र पर ग्रामीणों के गुस्से से जुड़ी यह चौथी घटना है। सोमवार को दूदेनगर, बिहार हरचंद, बरसुआ और इससे पहले रिसौली और बसोमा के ग्रामीण हंगामा कर चुके हैं।
रिसौली और दूदेनगर वालों पर रिपोर्ट दर्ज
कोतवाली पुलिस ने पिछले दिनों बिजली उपकेंद्र पर हंगामा और तोड़फोड़ के साथ सरकारी कामकाज में बाधा डालने के मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। पुलिस का कहना है कि आरोपियों को एक-दो दिन में सूचीबद्ध कर लिया जाएगा। बाद में उनकी गिरफ्तारी कर ली जाएगी। यह लोग रिसौली और दूदेनगर के हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us