बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

बिजलीघर को ग्रामीणों ने घेरा, कर्मियों से हाथापाई

Badaun Updated Tue, 15 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

उझानी (बदायूं)। ग्रामीण क्षेत्र में बिजली कटौती को लेकर ग्रामीणों का गुस्सा थमने का नाम नहीं ले रहा है। सोमवार को एक बार फिर ग्रामीण बिजली उपकेंद्र पर जा धमके और ड्यूटी पर मौजूद कर्मियों को खदेड़ दिया। मशीन रूम में तोड़फोड़ की और लॉग बुक को फाड़ डाला। प्रदर्शनकारियों ने करीब दो घंटे तक एसडीओ के आवास का घेराव किया। बाद में पुलिस ने पहुंचकर मामला शांत कराया।
विज्ञापन

बिजली उपकेंद्र पर दूदेनगर, बिहार हरचंदपुर और बरसुआ के बड़ी संख्या में लोग पहुंचे। उन्होंने उतरते ही वहां मौजूद बिजली कर्मियों से भिड़ गए और गाली-गलौच शुरू हो गई। बिजलीकर्मी लक्ष्मी के साथ भी हाथापाई की गई। कर्मचारियों को खदेड़कर ग्रामीणों ने सप्लाई रूम में मेज-कुर्सियां तोड़ डालीं। लक्ष्मी से छीनकर लॉग बुक भी फाड़ दी गई। शहर की सप्लाई को भी बंद करा दिया गया। आरोप है कि नार्थ फीडर से जुड़े गांवों को सप्लाई दो-तीन दिन में महज एक-दो घंटा ही मिलती है।

गुस्साए ग्रामीणों ने एसडीओ अनुराग वर्मा का आवास भी घेर लिया। उन्हें उम्मीद थी कि एसडीओ अंदर ही होंगे लेकिन वह मार्केट में थे। अपने अधीनस्थ की सूचना के बाद एसडीओ ने कोतवाली पुलिस को कॉल की। पुलिस ने मौके पर जाकर ग्रामीणों से पहले बातचीत कर उन्हें किसी तरह से शांत किया। इस घटना से बिजलीउपकेंद्र परिसर में अफरातफरी का माहौल रहा। ग्रामीणों के जबरदस्त गुस्से को देखते हुए जेई समेत कई कर्मी उपकेंद्र से गायब रहे। बता दें कि इससे पहले बसोमा, गठौना, रिसौली आदि के ग्रामीण भी बिजली कर्मियों का अपने गुस्से का शिकार बना चुके हैं।

...जब बिजली कर्मियों को भी आया गुस्सा
करीब डेढ़ सप्ताह में तीसरी बार बिजली उपकेंद्र पर हंगामा और हाथापाई से कर्मचारी भी आहत दिखे। एसडीओ मौके पर पहुंचे तो बिजली कर्मियों ने सप्लाई शुरू करने से मना कर दिया। बाद में नाराज कर्मचारी ड्यूटी छोड़ बाहर निकल गए। एसडीओ और पुलिस के समझाने पर माने कर्मचारियों ने अपराह्न करीब चार बजे सप्लाई शुरू की।

बिजली उपकेंद्र में तोड़फोड़ और कर्मचारियों से हाथापाई करने वाले ग्रामीणों के खिलाफ कार्रवाई के लिए वह पुलिस से मिले हैं। तहरीर भी दे गई है। आगे की कार्रवाई पुलिस को करनी है। बात सप्लाई में दिक्कत की करें तो एक साथ सभी फीडर को नहीं चलाया जा सकता।
-अनुराग वर्मा, एसडीओ।
-------------------------------------------
बिजली न आने से भड़के ग्रामीण, बिजलीघर में तोड़फोड़
प्राइवेट लाइनमैन को पीटा, फर्नीचर भी तोड़ा
कादरचौक। चार दिन से बिजली आपूर्ति ठप होने से आक्रोशित ग्रामीणों ने सोमवार की रात असरासी बिजलीघर पर धावा बोल दिया। ग्रामीणों ने वहां तोड़फोड़ करने के साथ ही प्राइवेट लाइनमैन वीरेश को भी पीटकर घायल कर दिया। पुलिस ने हंगामा कर रहे एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है।
असरासी बिजलीघर से इलाके के गांव कादरचौक, कटिन्ना, रमजानपुर, लभारी, जोरीनगला, ककोड़ा, भूड़ाभदरौल समेत लगभग डेढ़ सौ गांवों में सप्लाई दी जाती है। पुलिस की रात्रिगश्त न होने की वजह से चोरों द्वारा चार दिन पूर्व इलाके की हाइटेंशन लाइनें चोरी कर ली गई हैं। इससे इन गांवों की बिजली आपूर्ति ठप है। इससे आक्रोशित दर्जनों ग्रामीणों ने सोमवार की रात बिजलीघर पर धावा बोल दिया। ग्रामीणों ने बिजलीघर में रखा फर्नीचर तोड़ने के साथ ही वीरेश नाम के प्राइवेट लाइनमैन को भी पीट दिया। ग्रामीणों केतेवर देख वहां मौजूद स्टाफ भी भाग गया। अवर अभियंता बांकेलाल ने बताया कि अज्ञात लोगों के खिलाफ तहरीर दी है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us