पिता पुत्र की हत्या में पांच के खिलाफ एफआईआर

Badaun Updated Sat, 12 May 2012 12:00 PM IST
अलापुर (बदायूं)। थाना क्षेत्र के गांव नगरिया हरदास में बृहस्पतिवार की रात पिता-पुत्र की हत्या के दौरान हुई फायरिंंग की गूंज मंडल मुख्यालय तक पहुंच गई। घटना के दूसरे दिन शुक्रवार की सुबह डीआईजी एलवी एंटनी देवकुमार समेत पुलिस महकमे के आला अधिकारी गांव पहुंच गए। डीआईजी ने पीड़ित परिवार के सदस्यों से घटना की जानकारी लेने के साथ ही थाना पुलिस को नामजदों की जल्द गिरफ्तारी के निर्देश दिए हैं। इस घटना से गांव का माहौल तनावपूर्ण देखते हुए पीएसी तैनात कर दी गई है।
विदित हो कि बृहस्पतिवार की दोपहर गांव निवासी चुन्नीलाल का सात वर्षीय नाती कमलेश गांव के ही कुछ बच्चों के साथ ट्यूबवेल में नहाने गया था। इस दौरान गांव निवासी रूपचंद्र शर्मा ने कमलेश पर उनके पेड़ से आम तोड़ने का आरोप लगाते हुए उसे पीटना शुरू कर दिया। बाद में इसकी शिकायत करने चुन्नीलाल के पास भी पहुंचा। कुछ देर बाद दोनों पक्षों के बीच नोकझोंक भी हुई लेकिन गांव के अन्य लोगों ने बीच में हस्तक्षेप कर मामला सुलटा दिया।
रात लगभग आठ बजे रूपचंद्र का पुत्र सुनील चुन्नीलाल के घर जा धमका और गालियां देने लगा। चुन्नीलाल के 50 वर्षीय पुत्र ओमकार ने जब इसका विरोध किया तो सुनील ने अपने सहयोगियों के साथ मिलकर पूरे परिवार से मारपीट की। साथ ही फायरिंग शुरू कर दी। फायरिंग में ओमकार और उसके 22 वर्षीय पुत्र राजवीर की मौत हो गई। दोहरे हत्याकांड की इस घटना से गांव में सनसनी फैल गई।
बृहस्पतिवार देर रात ओमकार के पुत्र मोरपाल की तहरीर पर पुलिस ने रूपचंद्र, सुनील, हरपन के अलावा गांव के ही योगेश और नेकसू निवासी गांव ग्योति धर्मपुर के खिलाफ एकराय होकर फायरिंग करने, दहशत फैलाने और घर पर धावा बोलकर दो लोगों की हत्या की धाराओं में मुकदमा कायम कर लिया। देर रात पुलिस ने रूपचंद्र और सुनील को मय लाइसेंसी बंदूक के गिरफ्तार कर लिया। जबकि शेष आरोपी दूसरे दिन भी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं। इधर, शुक्रवार को डीआईजी ने गांव में पहुंचकर मौका मुआयना किया और मातहतों से घटना के बाबत जानकारी ली। उन्होेंने पुलिस अधिकारियों को फरार नामजदों की गिरफ्तार के निर्देश दिए।
मारपीट में दो अन्य भी घायल
नामजदों द्वारा फायरिंग से पूर्व की गई मारपीट में चुन्नीलाल के अलावा उनकी पौत्रवधू मीना पत्नी वीरपाल भी घायल हुई है। इनका निजी चिकित्सक के यहां इलाज कराया गया है। घटना में एक मवेशी को भी गोली लगी है।
--------------------------------------
अलापुर (बदायूं)। बृहस्पतिवार की रात गांव नगरिया हरदास में हुए दोहरे हत्याकांड के हालात दोपहर से ही बनने लगे थे। अपने पेड़ से एक आम तोड़ना रूपचंद्र को गंवारा नहीं था, इसी बात पर उसने कमलेश की पिटाई की और बाद में दोनों पक्षों के बीच तीखी नोकझोंक हुई। उस समय ग्रामीणों के हस्तक्षेप से भले ही मामला सुलट गया था लेकिन दोनों पक्षों के दिल में रंजिश की आग धधकने लगी थी। ओमकार को अपने पुत्र कमलेश की पिटाई का मलाल सता रहा था तो रूपचंद्र के सिर पर दबंगई का जिन्न सवार था। इन्हीं बातों पर रात को दोनों पक्षों में टकराव हुआ और पिता-पुत्र को जान से हाथ धोना पड़ गया।
दोहरे हत्याकांड का आरोपी रूपचंद्र लगभग ढाई दशक पूर्व भारतीय थल सेना में भर्ती हुआ था और दो दशक पूर्व वहां से भाग आया था। सेना में भर्ती केदौरान उसने सिंगल बेरल बंदूक का लाइसेंस भी बनवा लिया था। गांव में रूपचंद्र दबंगों की तरह रहता था। ग्रामीणों ने बताया कि जरा सी बात पर वह आमादा फसाद हो जाता था। काफी समय पहले से वह गांव के मंदिर में बतौर पुजारी काम करता था लेकिन गांव में उसकी दबंगई फिर भी जारी थी। यही दबंगई बृहस्पतिवार की रात दो लोगों की मौत का सबब बन गई और रूपचंद्र सलाखों केपीछे पहुंच गया।
देखने लायक था रूपचंद्र का जुनून

दोहरे हत्याकांड की खबर के बाद पुलिस महकमे में अफरातफरी मच गई। आनन-फानन में थाना पुलिस ने रूपचंद्र के घर में छापा मारा। यहां रूपचंद्र ने पुलिसपार्टी पर बंदूक तान दी। उसके सिर पर खून बहाने का जुनून सवार था। इस दौरान एक सिपाही ने पीछे से उसे दबोच लिया। छीनाझपटी में रूपचंद्र ने बंदूक का ट्रिगर भी दबा दिया, गनीमत रही कि नाल ऊपर थी ऐसे में गोली हवा में चली गई।
गांव में सुनसान, घर में कोहराम

पिता-पुत्र की हत्या के बाद से गांव में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है। वहीं ओमकार के घर से परिवार के लोगों की चीत्कार सुनाई आ रही है। पूरा परिवर दहशतजदा है। शुक्रवार की सुबह डीआईजी समेत पुलिस का अमला वहां पहुंचा तो कुछ देर के लिए परिवार केलोग सहम गए। हालांकि बाद में उन्होंने अपने बयान दिए।

Spotlight

Related Videos

मोदी ने संसद में जीता 'विश्वास' समेत देश दुनिया की बड़ी खबरें

अमर उजाला टीवी पर देश-दुनिया की राजनीति, खेल, क्राइम, सिनेमा, फैशन और धर्म से जुड़ी से जुड़ी खबरें। देखिए LIVE BULLETINS - सुबह 7 बजे, सुबह 9 बजे, 11 बजे, दोपहर 1 बजे, दोपहर 3 बजे, शाम 5 बजे और शाम 7 बजे।

21 जुलाई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen