गुस्साएं ग्रामीणों ने बिजलीघर में की तोड़फोड़

Badaun Updated Fri, 11 May 2012 12:00 PM IST
उझानी (बदायूं)। बसोमा और गठौना के बाद बृहस्पतिवार को रिसौली इलाके के बिजली उपभोक्ताओं का गुस्सा फूट पड़ा। अघोषित कटौती बताते हुए बड़ी संख्या में ग्रामीण बिजलीघर के परिसर में पहुंचे। वहां उन्हें एसडीओ और जेई नहीं मिले तो गांववालों का गुस्सा फूट पड़ा। ग्रामीणों ने एसएसओ पर धावा बोला और सप्लाई बंद करा दी और हंगामा करते हुए तोड़फोड़ की। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर गुस्साए ग्रामीणों को शांत किया। करीब डेढ़ घंटा तक बिजलीघर में अफरातफरी का माहौल रहा।
बिजलीघर पर हंगामा और तोड़फोड़ का यह मामला बृहस्पतिवार दोपहर का है। उस वक्त एसएसओ राजेश कुमार कर्मचारियों के साथ ड्यूटी पर थे। ग्रामीणों की भीड़ देख वह सहम गए। ग्रामीणों ने रिसौली इलाके का बताते हुए कर्मचारियों से भिड़ गए। आरोप है कि रिसौली समेत आसपास के गांवों को नियमित सप्लाई नहीं मिलती। आती भी है तो तीनों फेस सुचारू नहीं होते। गुस्साए ग्रामीणों ने जेई के बारे में भी पूछा। जेई और एसडीओ के नहीं मिलने पर उन्होंने कर्मचारियों को घेर कर सप्लाई बंद करा दी। हंगामा और नारेबाजी के दौरान ग्रामीण उपभोक्ताओं ने एसडीओ के कक्ष में फर्नीचर समेत सामान फेंक दिया। इस घटना के बाद कई अभिलेख भी फटे पड़े मिले। डेढ़ घंटा तक बिजलीघर कैंपस में ग्रामीणों का कब्जा रहा। एसएसओ का कहना है कि सप्लाई को जबरन बंद कराया गया। सूचना के बाद मौके पर पहुंचे पुलिस फोर्स का देख कई ग्रामीण खिसक गए। जो बचे उन्हें पुलिस ने समझा बुझाकर शांत किया। पुलिस के सामने ही ग्रामीणों ने बिजली कर्मियों पर मनमानी के आरोप लगाए। देर शाम महकमा के अफसरों ने भी बिजलीघर आकर तोड़फोड़ से हुए नुकसान के बारे में जानकारी हासिल की। शाम को कई कर्मचारी कोतवाली पहुंचे और आरोपियों पर कार्रवाई की मांग की।

जेई की भूमिका पर उठे सवाल
देहात क्षेत्र में बिजली सप्लाई को लेकर ग्रामीणों का गुस्सा कई बार पहले भी फूट चुका है। हर बार ही जेई की भूमिका संदेह के घेरे में आई। एक-दो बार ग्रामीण उपभोक्ता जेई पर गंभीर आरोप भी लगा चुके हैं।

बिजलीघर पर जिस वक्त ग्रामीण पहुंचे तब मैं मौके पर नहीं था। पहुंचने पर कर्मचारियों ने हकीकत बयां की। कमरों में मेज-कुर्सियां और अन्य सामान टूटा मिला। काफी नुकसान हुआ है। ग्रामीणों ने कर्मचारियों से अभद्रता भी की। पुलिस को भी पूरे घटनाक्रम से अवगत करा दिया गया है। रिपोर्ट दर्ज कराने को तहरीर कोतवाली में तहरीर दे दी है।
-अनुराग वर्मा, एसडीओ, उझानी।

Spotlight

Related Videos

नॉर्थ - ईस्ट को अशांत करने में पाकिस्तान और चीन सबसे आगे- बिपिन रावत

आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने देश के उत्तर-पूर्व इलाके को लेकर बड़ा बयान देते हुए कहा कि पाकिस्तान और चीन, भारत की शांति और मजबूती को प्रभावित नहीं कर पा रहे।

22 फरवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen