विज्ञापन

बीए सेकेंड ईयर के छात्र की हत्या

Badaun Updated Wed, 09 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
उसावां/बरेली। उसावां क्षेत्रांतर्गत सैदपुर के करैरी निवासी और बदायूं के राजकीय महाविद्यालय में बीए द्वितीय वर्ष के छात्र धमेंद्र शाक्य की गला दबाकर हत्या कर दी गई। हत्यारे इसे खुदकुशी का रूप देने के लिए शव को बरेली के कैंट इलाके में पेड़ पर लटका गए। हत्या चार दिन पहले हुई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में जहर देने की आशंका भी जताए जाने के चलते बिसरा सुरक्षित रख लिया गया है।
विज्ञापन

बदायूं के उसावां क्षेत्रांतर्गत सैदपुर के करैरी गांव निवासी 20 वर्षीय धर्मेंद्र सिंह शाक्य पुत्र स्व. बुधपाल बदायूं के राजकीय महाविद्यालय बीए द्वितीय वर्ष का छात्र था। चार मई को वह अपने छोटे भाई भूपेंद्र के साथ गांव से उसावां पहुंचा। वहां भाई को कुछ सामान खरीदवाने के बाद बस से अकेले ही बदायूं के लिए चला। शाम को धर्मेंद्र के घर नहीं पहुंचने पर परिजनों ने सोचा कि पांच मई को बदायूं में परीक्षा होने के कारण वह किसी रिश्तेदार के घर रुक गया होगा। जब पांच मई की रात भी वह नहीं लौटा तब उसकी खोजबीन की गई और पुलिस को सूचना दी लेकिन कोई पता नहीं लगा।
सात मई की शाम बरेली के कैंट बोर्ड आफिस के पीछे पेड़ पर लटकता शव मिला। पुलिस ने शव को कब्जे में लिया और शिनाख्त की कोशिश की। पास ही में मिले कॉलेज के प्रवेश पत्र के आधार पर पुलिस ने परिजनों को सूचना दी। घर से आए धमेंद्र के भाई राजेंद्र ने शव की शिनाख्त की। वह चार भाइयों में तीसरे नंबर पर था। उन्होंने भाई की हत्या का आरोप लगाया। बताया कि गांव में कुछ लोगों से उनका रास्ते को लेकर विवाद चल रहा है। कैंट थाने के इंसपेक्टर कौशेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। भाई के तहरीर देने पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा। पुलिस अपने स्तर से भी घटना के कारण खोज रही है।
-
परीक्षा नहीं दी थी धर्मेेंद्र ने
धर्मेंद्र सिंह शाक्य चार मई को परीक्षा देने निकला था, तभी से वह गायब था। घरवालों ने जब कॉलेज पहुंचकर जानकारी चाही तो पता चला कि धर्मेंद्र चार मई के पेपर में अनुपस्थित था। इससे साफ है कि उसावां से बदायूं रवाना होने के बीच ही वह लापता हो गया।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us