विज्ञापन

विवाहिता को जिंदा जलाया पति समेत पांच पर रिपोर्ट

Badaun Updated Mon, 07 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
बिल्सी (बदायूं)। नगर की टीचर्स कॉलोनी में शनिवार की रात दहेज को लेकर एक विवाहिता पर मिट्टी का तेल छिड़ककर जिंदा जला दिया। मृतका के पिता ने इस हत्याकांड को लेकर पति समेत पांच लोगों पर दहेज हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई है। सभी आरोपी फरार हैं।
विज्ञापन

थाना अलापुर के गांव पतसा निवासी आनंद प्रकाश पुत्र कुंज बिहारी ने थाना पुलिस को सौंपी तहरीर में कहा है कि उसने अपनी पुत्री आदेश उर्फ अंजू का विवाह नैथुआ (वर्तमान पता) नगर की टीचर्स कॉलोनी निवासी सतीश चंद्र सक्सेना के पुत्र अनुराग उर्फ मोनू के साथ करीब छह वर्ष पहले किया। दहेज को लेकर मोनू के परिवार के लोग उनकी पुत्री को परेशान करते थे। साथ ही दहेज में दो लाख और मोटर साइकिल की मांग काफी समय से कर रहे थे। दो वर्ष पहले मोनू के परिवार को एक लाख की नगदी दी, लेकिन वह इससे संतुष्ट नहीं हुए। इसके बावजूद मोनू के परिवार वाले उसको परेशान करते चल आ रहे थे। शनिवार की शाम मोनू और उसके परिवार के सदस्यों ने इसी के चलते उनकी पुत्री आदेश उर्फ अंजू के ऊपर मिट्टी का तेल छिड़क कर जिंदा जला दिया। एसओ शशिपाल सिंह यादव ने बताया कि मृतका के पिता ने आदेश के पति अनुराग उर्फ मोनू, सास शाशिवाला पत्नी सतीश चंद्र सक्सेना, ननद सीटू पुत्री सतीश चंद्र, जेठ अखिलेश पुत्र सतीश चंद्र, जिठानी प्रिंयका पत्नी अखिलेश सक्सेना के खिलाफ दहेज हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई है। एसओ ने बताया कि मामले की जांच सीओ सहसवान कर रहे हैं।
--------
बरेली में पोस्टमार्टम हाउस के पास मृतका की सास को पीटा

मायके वालों और भीड़ से बचकर भाग निकला ससुर
दहेज के लिए गर्भवती बहू को जला डालने का आरोप

सिटी रिपोर्टर
बरेली। दहेज के लिए ससुराल वालों ने गर्भवती बहू को जिंदा जला दिया। यहां मिशन अस्पताल में इलाज के दौरान महिला की मौत हो गई। आक्रोशित मायके वालों ने पोस्टमार्टम हाउस पर मृतका को पीट दिया। जबकि ससुर भीड़ के बीच से निकल भागने में सफल रहे।
शनिवार को अंजू के ऊपर मिट्टी का तेल डालकर जला दिया गया। इसके बाद उसे झुलसी हालत में मिशन अस्पताल में भर्ती करा दिया गया, जहां बीती रात अंजू ने दम तोड़ दिया। मायके वालों को इसकी जानकारी पड़ोसियों से लगी।
रविवार की दोपहर अंजू का शव पोस्टमार्टम हाउस ले जाया गया, जहां अनुराग की मां शशि बाला, पिता आनंद प्रकाश एडवोकेट उनके कई रिश्तेदार और अंजू के मायके वाले मौजूद थे। वहां बातचीत के दौरान मृतका के भाई दीपक सक्सेना और उनके परिवार वाले आक्रोशित हो उठे। इससे अनुराग के पिता आनंद प्रकाश और मां शशि बाला उठकर जाने लगे। मृतका के भाई दीपक ने शशि बाला को पकड़ लिया और खींचतान की। उनके साथ गाली गलौज और मारपीट भी की गई। मौके पर मौजूद रिश्तेदारों ने किसी तरह मामला शांत कराया।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us