भगवान बुद्ध की जयंती पर निकली शोभयात्रा जगह-जगह हुआ भव्य स्वागत

Badaun Updated Mon, 07 May 2012 12:00 PM IST
बदायूं। भगवान बुद्ध की जयंती पर शहर में धूमधाम से शोभायात्रा निकाली गई, जिसमें एक से बढ़कर एक झांकियां आकर्षण का केंद्र बनी रहीं। शोभायात्रा में बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल हुए। जगह-जगह पर शोभायात्रा का भव्य स्वागत किया गया।
भारतीय बौद्ध महासभा के सौजन्य से निकली यह शोभायात्रा शहर के मुख्य मार्गों से होती हुई डॉ. अंबेडकर बुद्ध बिहार पहुंचा। यहां सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। जादूगर जेके सागर के अनोखे अंदाज में भगवान बुद्ध के जीवन दर्शन का कार्यक्रम काफी सराहा गया। कविता व गीत के माध्यम से भी भगवान बुद्ध की स्तुति की गई। महाराष्ट्र से आयीं भिक्षुणी पूर्णिमा ने भगवान बुद्ध के जीवन दर्शन पर वक्तव्य दते हुए कहा कि बौद्घ धम्म के बिना देश में शांति नहीं आ सकती। बीएन चौधरी, अखिलेश, राममूर्र्ति लाल, जगदीश प्रसाद, वीरेंद्र सिंह, बृजेश कुमार, डॉ हरपाल सिंह, डॉ अशोक कुमार, साहेब सिंह, राधेश्याम बौद्घ सहित कई लोग मौजूद रहे। उधर, राष्ट्रीय समानता दल के कार्यकर्ताओं ने ग्राम अंबियापुर में प्रेमपाल शाक्य के आवास पर बुद्घ जयंती कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिलाध्यक्ष सत्यपाल सिंह शाक्य ने कि संसार के तट से निर्वाण तक ले वाला बौद्घ धर्म करुणा का एक सेतू है। प्रेमशंकर सागर, राजाराम शाक्य, रमेश कोरी, हाकिम सिंह, हरवेंद्र सिंह, रवींद्र शाक्य, गोपाल बाबू, हरचरन लाल सहित कई लोग मौजूद रहे। मानव उत्थान सेवा समिति की ओर से सम्मलेन में आश्रम प्रभारी सुमित्रा बाई ने महात्मा बुद्ध के जीवनकाल पर प्रकाश डाला। ओमप्रकाश गुप्ता, भगवान दास, कैलाश राठौर, सुरेंद्र सिंह और नेत्रपाल आदि मौजूद रहे।

Spotlight

Related Videos

काशी संघ समागम में पड़ोसी देशों को मिली कड़ी चेतावनी

रविवार को वाराणसी के संस्कृत विश्वविद्यालय मैदान पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का समागम कार्यक्रम हुआ। संघ समागम में 25 हजार से ज्यादा स्वयंसेवकों ने शक्ति प्रदर्शन किया।

19 फरवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen