लापरवाही बैंकों की, खामियाजा बुजुर्ग लाभार्थियों को

Badaun Updated Fri, 04 May 2012 12:00 PM IST
अनूप गुप्ता
बदायूं। बैंकों की लापरवाही का खामियाजा जिले के करीब छह सौ गरीब बुजुर्ग पेंशन लाभार्थियों को भुगतना पड़ रहा है। कई बैंक सीबीएस हो गईं, जिससे उनके यहां खुले खाता नंबर बदल गए लेकिन बैंकों ने न तो इसकी सूचना खाताधारकों को दी और न ही समाज कल्याण महकमा को। नतीजा यह रहा कि समाज कल्याण ने बड़ी तादाद में लाभार्थियों को उनके पुराने खातों में पेंशन जारी कर दी। खाता नंबर गलत होने से पिछले वित्तीय साल में सैकड़ों गरीब बुजुर्ग पेंशन के लिए भटक रहे हैं।
क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक और कोऑपरेटिव बैंक सहित कई बैंक पहले सीबीएस यानी ऑनलाइन कनेक्ट नहीं थीं। हालांकि बाद में इनके सीबीएस होने से उनके खाता धारकों के एकाउंट नंबर भी बदल गए। मगर, जिन लाभार्थियों के खाते इन बैंकों में खुले थे, उनके नए खाता नंबर की जानकारी बैंकों ने न तो लाभार्थियों को दी और न ही समाज कल्याण विभाग को भेजी गई, जिसका नतीजा यह रहा कि विभाग ने वर्ष 2011-12 में लाभार्थियों को उनके पुराने नंबरों पर ही पेंशन जारी कर दी। उधर, नए खाता नंबरों में पेंशन न आने से बुजुर्ग लाभार्थी बैंकों से लगाकर विकास भवन के चक्कर काटते रहे लेकिन उन्हें न तो इस साल की पहली छमाही की किस्त मिली और न ही दूसरी। समाज कल्याण के पेंशन जारी करने के बावजूद भी करीब छह सौ लाभार्थी बैंक खातों से पैसा नहीं निकाल सके। इधर, वित्तीय साल गुजरने के बाद बैंक ने इन सभी लाभार्थियों का पैसा समाज कल्याण विभाग को वापस भेज दिया है।
-
नए खातों के नंबर जुटा रहा विभाग
बैंकों से जिन लाभार्थियों का पैसा वापस आ गया है, समाज कल्याण विभाग ऐसे लोगों की सूची तैयार कर उनके नए खाता नंबर जुटा रहा है। हालांकि इस काम की रफ्तार कम होने से पेंशन न पाने वाले लोगों का इंतजार अभी जल्द खत्म होता नहीं दिखाई दे रहा है।

20 फीसदी के सीबीएस खातों के नंबर नहीं
शासन के तो यही फरमान है कि सभी लाभार्थियों के खाते सीबीएस बैंकों में खुलवाए जाएं, लेकिन करीब 60 हजार लाभाथियों में 20 फीसदी के अभी सीबीएस बैंक एकांउट नंबर नहीं मिल सके हैं। ऐसे में उन्हें पेंशन जारी करने में खासी दिक्कत हो रही है।

चलने में अक्षम होने के बावजूद उझानी ब्लाक के ग्राम बरसुआ की बुजुर्ग भग्गापुरी, इसी ब्लाक के रौली निवासी भोपतराय, जुनावई ब्लाक के छपरा सुल्तानपुर की कलावती, बिसौली ब्लाक के बिसौलीगंज, मोहम्मदपुरमई के रामप्रकाश सहित बड़ी संख्या में लाभार्थियों को पिछले वर्ष की पेंशन नहीं मिली है। उनका कहना है न तो बैंक वाले सीधे मुंह बात कर रहे हैं और न ही समाज कल्याण के कर्मचारी कुछ बता रहे हैं।

यह बैंकों की जिम्मेदारी थी कि वे नए खाता नंबर के बारे में जानकारी देते। बहरहाल, सूची तैयार हो रही है। जल्द ही नए खातों में पेंशन जारी कर दी जाएगी।
एसएस यादव, जिला समाज कल्याण अधिकारी


नए खाता संख्या नंबर के लिए समाज कल्याण विभाग को सूची देने के लिए कह दिया गया। जल्द ही इस समस्या दूर कर ली जाएगी।
डीके शर्मा, लीड बैंक मैनेजर

Spotlight

Related Videos

चारा घोटाला केस में लालू को जेल, सुशील मोदी ने ली चुटकी

रांची की सीबीआई अदालत ने चारा घोटाला के तीसरे मामले में आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव को दोषी करार देते हुए पांच साल की सजा सुनाई।

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls