बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

दो विवाहिताओं को घर से निकाला

Badaun Updated Fri, 04 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
उझानी(बदायूं)। दहेज उत्पीड़न की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। इसके बावजूद पीड़ित महिलाओं को पुलिस का सहयोग न मिलने से उन्हें मजबूरन कोर्ट का सहारा लेना पड़ रहा है। ऐसे ही दो मामले बुधवार को पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर दर्ज किए। दोनों ही मामलों में दहेज की मांग से संबंधित हैं। इन मामलों में महिलाओं के साथ मारपीट कर उन्हें घर से निकाल दिया गया।
विज्ञापन

पहला मामला नगर के मोहल्ला बहादुरगंज का है। मोहल्ले के परमात्मा शरण की पुत्री निधि माहेश्वरी की शादी सहसवान में सैफुल्लागंज निवासी अमित के साथ तीन साल पहले हुई थी। पति समेत उसके परिजन निधि को यह कहकर परेशान करने लगे कि तीन लाख अपने माता-पिता से लाकर दे। ससुरालियों की मांग और उत्पीड़न की दास्तां निधि ने अपने मायके आकर परिजनों को दी। एक बार तो समझौता भी हो गया। छह अप्रैल को पति समेत उसके परिजनों ने निधि को मारपीट कर घर से निकाल दिया। कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने अमित, उसके पिता सुधीर, मां रजनी और जूली के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

इसके अलावा सिविल लाइंस थाना क्षेत्र के गांव नवादा में शौहर अब्दुल गनी और उसके परिजनों के उत्पीड़न का शिकार होकर मायके नगर के मोहल्ला गंजशहीदा लौटी सलमा ने भी कार्रवाई के लिए पहले पुलिस की शरण ली थी। उसकी शिकायत पर गौर नहीं हुआ तो उसे कोर्ट जाना पड़ा। बकौल सलमा- शौहर और सास-ससुर उसे मारते पीटते रहे। नामजद में चार लोग मध्यस्थ परिवार के सदस्य भी शामिल हैं।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us