लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   ›   नियम बदलते ही आवेदनों की भरमार

नियम बदलते ही आवेदनों की भरमार

Badaun Updated Thu, 03 May 2012 12:00 PM IST

अभिषेक सक्सेना
बदायूं। प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के साथ ही पुलिस महकमे में तबादले का नियम भी बदल गया है। इसके तहत अब दरोगा और सिपाही गृह जनपद की सीमा से सटे जिलों में तैनाती ले सकेंगे। इस नियम के लागू होने पर महकमे के अधिकारियों केपास तबादला कराने वाले पुलिसकर्मियों के आवेदनों की भरमार हो गई है।
बसपा सरकार में पिछले साल फरमान जारी हुआ था कि सीमा से सटे जिलों में पुलिसकर्मी तैनाती नहीं ले सकेंगे। ऐसे में जिले की अधिकांश पुलिस गैर जिलों को रवाना कर दी गई थी। चूंकि नई पुलिस को यहां की भौगोलिक स्थिति और अपराधियों की प्रवृति नहीं थी। ऐसे में यहां अपराध के ग्राफ में भी बढ़ोत्तरी हुई। विधानसभा चुनाव के बाद सत्ता में आई सपा सरकार ने बसपा की इस नीति में परिवर्तन कर दिया है। इससे पुलिस महकमे को राहत मिली है। अब पुलिसकर्मियों को परिवार से दूर रहकर नौकरी नहीं करनी पड़ेगी।

जिले से गए थे साढ़े छह सौ पुलिसकर्मी
बदायूं जिला बरेली, शाहजहांपुर, रामपुर, मुरादाबाद और भीमनगर समेत नौ जिलों की सीमाओं से सटा है। ऐसे में बसपा की इस नीति से बदायूं काफी प्रभावित हुआ। जिले से लगभग साढ़े छह सौ दरोगा और सिपाहियों को जाना पड़ा था। आलम यह हो गया था कि जिले की कई पुलिस चौकियों में ताले लटकने की नौबत आ पड़ी थी।
छह सौ से ज्यादा आवेदन पहुंचे
नया नियम लागू होते ही जिले में तैनात छह से ज्यादा दरोगा और सिपाहियों ने अपना तबादला सीमावर्ती जिलों में कराने के लिए आवेदन दिया है। आवेदनों की संख्या बढ़ती जा रही है।

अभी तक छह से ज्यादा पुलिसकर्मियों ने अपना तबादला कराने को प्रार्थना पत्र दिए हैं। ये प्रार्थना पत्र अधिकारियों को लगातार भेज रहे हैं। इससे पुलिसकर्मी समय-समय पर अपने परिवार से भी मिलते रहेंगे और ड्यूटी भी करेंगे।
रतन श्रीवास्तव, एसपी

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00