आवेदन निरस्त होने के बाद जमा हो रहे प्रार्थना पत्र

Badaun Updated Thu, 03 May 2012 12:00 PM IST
बदायूं। अंतर्जनपदीय स्थानांतरण के जिन शिक्षकों के आवेदन निरस्त हुए हैं उनके प्रार्थना पत्र अब बीएसए कार्यालय में जमा होने लग गए हैं। यह पत्र इलाहाबाद भेजे जाएंगे जहां आवेदन के लिए सॉफ्टवेयर बना था। वहां से इन आवेदनों को सही किया जाएगा।
विदित हो कि जिले के परिषदीय विद्यालयों के 1708 शिक्षकों ने अंतर्जनपदीय स्थानांतरण के लिए दिसंबर माह में ऑनलाइन आवेदन किया था। इसमें से 900 आवेदनों का सत्यापन हो गया था, लेकिन स्थानांतरण प्रक्रिया पर ब्रेक लग गया। अब यह प्रक्रिया खुली तो जिले के 484 शिक्षकों के आवेदन निरस्त कर दिए गए। कंप्यूटर उनके आवेदनों को अस्वीकृत बता रहा है। शिक्षकों को आवेदन अस्वीकृत होने के कारणों का पता नहीं लग सका। इससे शिक्षकों की समस्या कम होने के बजाय बढ़ गई। इस समस्या को अमर उजाला ने प्रमुखता से प्रकाशित किया तो शिक्षकों के प्रार्थना पत्र लिए जाने लगे।
विभागीय अधिकारियों का कहना है कि यह पत्र इलाहाबाद भेजे जाएंगे। यदि सॉफ्टवेयर के कारण आवेदन निरस्त हुए होंगे तो सही कर दिए जाएंगे। यदि शिक्षकों के स्तर से गड़बड़ी हुई है तो उसका जिम्मा उन्हीं का है। शिक्षक सुमित, रामप्रकाश का कहना है कि प्रार्थना पत्र तो दे दिया है, लेकिन समस्या का समाधान तभी होगा जब आवेदन स्वीकृत कर लिए जाएंगे। शिक्षकों के स्तर से गड़बड़ी नहीं हुई है।

Spotlight

Related Videos

चारा घोटाला केस में लालू को जेल, सुशील मोदी ने ली चुटकी

रांची की सीबीआई अदालत ने चारा घोटाला के तीसरे मामले में आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव को दोषी करार देते हुए पांच साल की सजा सुनाई।

24 जनवरी 2018