बिसरा मामले की जांच शुरू, दोबारा परीक्षण को भेजा

Badaun Updated Wed, 02 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

बदायूं। विवाहिता की संदिग्ध मौत के बाद जांच को जा रहे बिसरे का जार टूटने के मामले की मंगलवार को विभागीय जांच शुरू हो गई है। एसपी रतन श्रीवास्तव ने यह जांच सीओ सिटी सत्यसेन को सौंपी है। वहीं बिसरा की दोबारा पैकिंग करवाकर उसे जांच के लिए भेजा गया है।
विज्ञापन

विदित हो कि शहर के मोहल्ला पटियाली सराय निवासी राजीव की पत्नी गीता की बीती 10 अप्रैल को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत की सही वजह पुष्ट न होने पर डाक्टर ने उसका बिसरा सुरक्षित रख लिया था। 25 अप्रैल को यह बिसरा जांच के लिए फोरेेंसिक लैब आगरा जा रहा था। रास्ते में जार टूटने से उसका द्रव निकल गया।
इस मामले को सलटाने के लिए सोमवार को कोतवाली में तैनात दरोगा विपिन मौर्य और कुछ सिपाहियों ने जिला अस्पताल पहुंचकर बिसरा को दोबारा पैक कराना चाहा लेकिन डाक्टरों की टीम ने स्टेट मेडिकल एक्सपर्ट की राय पर पैकिंग करने से इंकार कर दिया था। यह खबर मंगलवार को अमर उजाला में प्रकाशित होने केबाद महकमे के अधिकारियों को पूरा प्रकरण पता लगा। एसपी ने इस मामले की जांच कर दोषियों को चिह्नित करने के सीओ सिटी को निर्देश दिए हैं। वहीं बिसरा ले जाने वाली पुलिस टीम को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। एसपी ने बताया कि बिसरा को दोबारा पैक करवाकर जांच के लिए भिजवाया है। ताकि मौत की वजह पुष्ट हो सके।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us